Article

Squirrel Cage Induction Motor in Hindi | गिलहरी पिंजरा मोटर क्या है |

इस आर्टिकल में हम पढेंगे गिलहरी पिंजरा मोटर क्या है ( Squirrel Cage Induction Motor in Hindi ) | यदि आप जानना चाहते है की गिलहरी पिंजरा मोटर क्या है , कैसी होती है तथा इसका उपयोग कहाँ किया जाता है तो यह आर्टिकल आप पूरा पढ़ें यहाँ हमने आपको गिलहरी पिंजरा मोटर के बारे में विस्तार से बताया है |
नमस्कार और स्वागत है आपका एस.के.आर्टिकल डॉट में .....
induction motor,squirrel cage induction motor,3 phase induction motor in hindi,three phase induction motor,how induction motor works in hindi,squirrel cage rotor,electric motor in hindi,working of motor in hindi,squirrel cage,motor in hindi,induction motor in hindi,three phase squirrel cage induction motor,ac motor,three phase induction motor working in hindi
Squirrel Cage induction motor


Squirrel Cage Induction Motor in Hindi


थ्री फेज गिलहरी पिंजरा मोटर वर्तमान में सबसे ज्यादा उपयोग की जाती हे|Suirrel Case Induction Motor में घुमने वाले भाग रोटर की सरंचना गिलहरी के पिजरे के समान होने के कारण इस मोटर का नाम गिलहरी पिंजरी मोटर रखा गया हे |

इस मोटर के रोटर में वाइंडिंग के लिए छड़ो का उपयोग किया जाता हे जिनको रोटर ड्रम में इस प्रकार से स्थापित करते हे की रोटर की सरचना गिलहरी के पिंजरे के समान दिखे |


गिलहरी पिंजरी मोटर के भाग 

गिलहरी पिंजरी मोटर में मुख्य रूप से दो भाग होते हे

  • १ स्टेटर ( Stator )
  • २ रोटर ( Rotor )

स्टेटर - गिलहरी पिंजरी मोटर के स्टेटर में थ्री फेज की वाइंडिंग स्थापित की जाती हे जिसमे प्रत्येक वाइंडिंग के मध्य 120 डिग्री का इलेक्ट्रिकल एंगल रखा जाता हे | इस मोटर की वाइंडिंग से 6 सिरे मोटर की टर्मिनल प्लेट पर निकले जाते हे जिन्हें आवश्यकता अनुसार स्टार या डेल्टा क्रम में जोड़ा जा सकता हे |

रोटर - मोटर के इस घुमने वाले भाग रोटर में वाइंडिंग के लिए छड़ो का उपयोग किया जाता हे | रोटर में छड़ो के द्वारा वाइंडिंग करने के बाद उन्हें शोर्ट सर्किट कर दिया जाता हे | जब भी रोटर को थ्री फेज के प्रत्यावर्ती चुम्बकीय क्षेत्र में रखा जाता हे तो रोटर में विद्युत चुम्बकीय प्रेरणके सिद्धांत से विद्युत वाहक बल उत्पन्न हो जाता है और रोटर स्टेटर के चुम्बकीय क्षेत्र में घूमना शुरू हो जाता है |

गिलहरी पिंजरी मोटर के प्रकार

गिलहरी पिंजरी मोटर मुख्य रूप दो प्रकार की होती हे

  • १ सिंगल केज रोटर मोटर
  • २ डबल केज रोटर मोटर

Single Cage Rotor Motor

सिलिकॉन स्टील की लेमिनेटेड पत्तियों से एक बेलनाकार ड्रम बनाया जाता है जिसके अन्दर कॉपर की छड़ों को फिट करते है | तथा इन छड़ो के दोनों साइड के सिरों को कॉपर या एल्युमिनियम की रिंग्स से शोर्ट कर दिया जाता है | छड़ो को शोर्ट करने के लिए छड़ो और छल्ले को ब्रेजिंग या वेल्डिंग किया जाता है | 

उपयोग - Single Case Rotor Motor का उपयोग लेथ मशीन , ड्रिल मशीन, ग्राइंडर , सॉ मिल , वाटर पंप तथा ऐसे स्थान पर किया जाता है जहाँ लोड पहले से आरोपित न हो | 

Double Case Rotor Motor 

इस प्रकार की मोटर के रोटर की सरचना सिंगल केज रोटर के समान ही होती है | परन्तु इसमें वाइंडिंग के रूप में उपयोग की जाने वाली छड़ो की दो परते होती है | जिसमें अन्दर वाली छड़ो की परत को इनर केज तथा बाहरी छड़ों की परत को आउटर केज कहते है | 

उपयोग - डबल केज रोटर मोटर का उपयोग आटा चक्की , स्लाटर मशीन, टैक्सटाइल मिल तथा ऐसे सभी स्थानों पर किया जाता है जहाँ पर मोटर स्टार्ट होने से पहले ही मोटर की शाफ़्ट पर हल्का लोड जुड़ा हो | 

यह भी पढ़िए  -


Conclusion

इस आर्टिकल में आपने पढ़ा Squirrel Cage induction Motor in Hindi में | उम्मीद करते है यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा | कृपया इसे अपने साथियों के साथ भी जरुर शेयर करे | 

No comments:

Post a Comment