Article

Machine Control Panel क्या है ? यह किस काम में आता है ?


एक इलेक्ट्रीशियन द्वारा सभी प्रकार की मशीनों के बारे में जानकारी लेने के बाद जब उन मशीनों को अपने यथा स्थान पर फिक्स कर दिया जाता है तो इन मशीनों को सप्लाई से जोड़ने के बाद हमे मशीन की हर एक गतिविधि की जानकरी एक ही जगह से प्राप्त हो इसके लिए हम Machine Control Panel का उपयोग करते है | यदि आप जानना  चाहते हे की Machine Control Panel क्या होता है , इसमें कौन - कौन से भाग होते है तथा इसका उपयोग कहाँ और क्यों किया जाता है तो यह आर्टिकल आपके लिए मददगार हो सकता है | हेल्लो फ्रेंड्स ... मै सोनू कुमार कछावा और आप पढ़ रहे हे एस.के. आर्टिकल डॉट कॉम | आइये पढ़ते है Machine Control Panel के बारे में - 

machine control panel
machine control panel

Machine Control Panel क्या है

विभिन्न प्रकार की मशीनों एवं उपकरणों में विद्युत सप्लाई को कण्ट्रोल करने के लिए जिस युक्ति का उपयोग किया जाता है , उसे Machine Control Panel कहा जाता है  "


Machine Control Panel का उपयोग

फ्रेंड्स मशीन कण्ट्रोल पैनल एक बक्सा होता है जिसमे विभिन्न प्रकार की नियंत्रण , सुरक्षा एवं मापक युक्तियाँ लगी होती है जो किसी मोटर या मशीन को बंद / चालू एवं सुरक्षित रूप से प्रचालित करने के लिए उपयोग किया जाता है | Machine Control Panel को Machine Control Cabinate के नाम से भि जाना जाता है | एक Machine Control Panel से मशीन की आयु को हम अधिक कर सकते है | मशीन कण्ट्रोल पैनल में हमे सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त हो जाती हे की मशीन में कितना सप्लाई वोल्टेज दिया जा रहा है ,मशीन कितनी विद्युत धारा खपत कर रही है ,मशीन को कितनी फ्रीक्वेंसी मिल रही हे तथा इसके अतिरिक्त किसी मशीन की सप्लाई वोल्टेज को नियत्रण एवं विभिन्न प्रकार के सुरक्षा साधनों को का भी उपयोग एक मशीन कण्ट्रोल पैनल में किया जाता है |


Machine Control Panel में कौन – कौन से डिवाइस लगे होते है

एक मशीन कण्ट्रोल पैनल में मशीन की आवश्यकता के अनुसार विभिन्न प्रकार की युक्तियों का उपयोग किया जाता है जैसे कनेक्टिंग युक्ति , कंट्रोलिंग युक्ति , सुरक्षा युक्ति , सूचक युक्ति , मापक युक्ति, प्रचालित युक्ति आदि |

Connecting Devices – इनका उपयोग कण्ट्रोल पैनल तथा मशीन को विद्युतिक सप्लाई से जोड़ने के लिए किया जाता है | मोटर तथा सप्लाई के वायर को इनमे स्क्रू की सहायता से कसा जाता है | जैसे – कनेक्टिंग प्लेट , टर्मिनल्स प्लेट आदि |

Controlling Devices – इनका उपयोग कण्ट्रोल पैनल में सप्लाई को ऑन तथा ऑफ करने के लिए करते हे सामान्यत यह विभिन्न प्रकार के पॉवर स्विच होते है | जैसे – ICDT , ICTP , DPDT, TPTT , one way switch ,two way switch , entermidiat switch आदि |


Safety Devices – एक मशीन को जितनी सप्लाई की आवश्यकता हो उतनी ही सप्लाई मशीन को मिले तथा मशीन को अत्यधिक धारा ,शोर्ट सर्किट तथा अन्य विभिन्न प्रकार के वैद्युतिक दोषों से सुरक्षा के लिए safety Devices सुरक्षा युक्तियों का उपयोग किया जाता है | जैसे – MCB , Isolater , fuse , relay आदि |


Indicating Devices – कण्ट्रोल पैनल में सप्लाई ओन हे या ऑफ हे की सुचना देने का कार्य यह युक्तियाँ करती है , इसके द्वारा यह पता चलता है की कण्ट्रोल पैनल में सप्लाई ओन हे या नही  | जैसे – वन टाइम बजर , लाइट इंडिकेटर फ़्लैश फिलिन्किंग लाइट आदि |


Measuring Devices – कण्ट्रोल पैनल में मशीन को दी जाने वाली विभिन्न प्रकार की वैद्युतिक राशियों के मापन के लिए मापक युक्तियों का उपयोग किया जाता है | जैसे – वोल्टमीटर , अमीटर , फ्रीक्वेंसी मीटर , वाट मीटर आदि |


Starting Devices – पैनल से आने वाली सप्लाई सभी युक्तियों से होती हुयी अंत में प्रचलित युक्तियो के माध्यम से मशीन तक जाती है जिसके द्वारा मशीन को सुरक्षित रूप से स्टार्ट किया जा सकता है |  जैसे – DOL Starter , star delta starter , two point starter , three point starter , AC Drive , DC Drive आदि |


तो फ्रेंड्स यह थी Machine Control Panel के बारे में कुछ समान्य जानकारी | यदि यह जानकारी आपको पसंद आती हे तो कृपया अपने साथियों के साथ भी जरुर शेयर करे और यदि इस आर्टिकल जुड़ा आपका कोई सवाल हो तो कृपया हमे निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करे |

No comments:

Post a Comment