Article

विद्युत् धारा के प्रभाव | Effect Of Electric Current in Hindi

Effect Of Electric Current
Effect Of Electric Current 

Effect Of Electric Current in Hindi 

दुनियाँ में मौजूद हर एक बिजली से चलने वाले उपकरण या मशीन में आपको विद्युत धारा का कोई ना कोई प्रभाव अवश्य देखने को मिल जायेगा | 
यदि आप नही जानते है की विद्युत धारा के प्रभाव किसे कहते है और किसी वैद्युतिक मशीन / उपकरण में इसके प्रभावों की पहचान कैसे कर सकते है तो यह आर्टिकल आप अंत तक पढ़िए इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले है की विद्युत धारा के प्रभाव क्या क्या है तथा इनका किसी भी वैद्युतिक मशीन / उपकरण में क्या महत्व है | 

हे नमस्कार दोस्तों मै सोनू कुमार कछावा स्वागत करता हूँ आपका एस.के.आर्टिकल डॉट कॉम मै | 

विद्युत् धारा के प्रभाव क्या है 

जब भी हम अपने घर में उपयोग आने वाली बिजली से चलने वाली किसी मशीन / उपकरण जैसे बल्ब , पानी की मोटर , कूलर , पंखा , प्रेस , हीटर , गीजर , इन्वर्टर , मोबाइल फ़ोन आदि का स्विच चालू करते है तो इन सभी वैद्युतिक उपकरणों में विद्युत धारा यानि की करंट चलना शुरू हो जाती है | बस इसी विद्युत धारा के कारण प्रत्येक उपकरण में विद्युत धारा का अलग अलग प्रभाव देखने को मिल जाता है | विद्युत धारा के अलग अलग प्रभाव के कारण ही प्रत्येक वस्तु का कार्य अलग अलग होता है | 

जैसे - घर में लगे पंखे का जब हम बटन ऑन करते है तो पंखा घूमना शुरू कर देता है जबकि ट्यूबलाइट का बटन ऑन करने पर वह घुमती नही है प्रकाश देती है | बटन दबाने से होने वाली यह अलग- अलग प्रतिक्रिया विद्युत धारा के प्रभाव के कारण ही होती है | 

विद्युत धारा के कौन - कौन से प्रभाव होते है 

विद्युत धारा के निम्न प्रभाव होते है - 
1. चुम्बकीय प्रभाव 
2. उष्मीय प्रभाव 
3. रासायनिक प्रभाव 
4. किरण प्रभाव 
5. गैस आयनीकरण प्रभाव 
6. प्रकाशीय प्रभाव , आदि |

विद्युत धारा के प्रभाव का उपयोग 


1. चुम्बकीय प्रभाव ( Magnetic Effect of electric current in Hindi ) - विद्युत धारा का यह प्रभाव पंखा , विद्युत मोटर , विद्युत घंटी , बजर , साउंड , माइक्रोफोन , मैग्नेटिक क्रेन मशीन आदि में देखने को मिलता है | 

2. उष्मीय प्रभाव ( Heating Effect of electric current in hindi ) - विद्युत हीटर , विद्युत प्रेस , गीजर , सोल्डरिंग आयरन , हॉट प्लेट आदि उपकरण विद्युत धारा के उष्मीय प्रभाव पर कार्य करते है | 

3. रासायनिक प्रभाव ( Chemical Effect of Electric Current in Hindi ) - विद्युत धारा के इस प्रभाव का उपयोग विद्युत बैटरी , एलेक्ट्रोप्लाटिंग आदि में किया जाता है | 

4. किरण प्रभाव ( Rays Effect of Electric Current in Hindi ) - विद्युत धारा के इस प्रभाव का उपयोग सोनोग्राफी , एक्स रे मशीन आदि में किया जाता है | 

5. गैस आयनीकरण प्रभाव ( Gas ionisation Effect of Electric Current in Hindi ) - विद्युत धारा के इस प्रभाव का उपयोग करते हुए उच्च प्रकाश वाले बल्ब जैसे -सोडियम वेपर लैंप , मरकरी वेपर लैंप , फ्लोरोसेंट लैंप आदि में किया जाता है | 

6. प्रकाशीय प्रभाव ( lighting Effect of Electric Current in Hindi ) - विद्युत धारा के इस प्रभाव का उपयोग विद्युत बल्बों में किया जाता है | 

यह भी पढिये - 

यह थी विद्युत धारा के प्रभाव के बारे में कुछ सामान्य सी जानकारी | यह जानकारी यदि आपको पसंद आती है तो कृपया अपने साथियों के साथ भी जरुर शेयर करे | 

No comments:

Post a Comment