Article

Full Wave Rectifier किसे कहते है कैसे बनाये


बैटरी चार्जिंग , इलेक्ट्रोप्लाटिंग, पोल चार्जिंग तथा स्थायी चुम्बकीय क्षेत्र जैसे कार्यो में हमें डीसी की पूर्ण तरंग रेक्टिफायर की आवश्यकता होता है  | यदि आप नही जानते की Full Wave Rectifier in Hindi पूर्ण तरंग दिष्टकारी किसे कहते है और इसको कैसे बनाया जाता है तथा इसका सर्किट डायग्राम कैसे बनता है | तो यह आर्टिकल आप पूरा पढ़ें यहाँ आपको full wave rectifier के सभी सवालों का जवाब मिलने वाला है |

नमस्कार और स्वागत है आपका एस.के. आर्टिकल डॉट कॉम में .........

Full Wave Rectifier

Full Wave Rectifier in Hindi

यहाँ यदि आप इसका हिंदी अनुवाद समझें तो full wave का मतलब होता है पूर्ण तरंग और Rectifier को हिंदी में कहेंगे दिष्टकारी | 

full wave rectifier ऐसा इलेक्ट्रॉनिक परिपथ होता है जिसका उपयोग AC सप्लाई से प्राप्त तरंग को DC सप्लाई की पूर्ण तरंग में बदलने के लिए किया जाता है | 


Full Wave Rectifier Circuit Diagram

अब हम full wave rectifier circuit diagram बनाना सीखेंगे | रेक्टिफायर बनाने से पहले इस रेक्टिफायर में उपयोग आने वाली सभी सामग्री के बारे में जानते है की इसमें किन किन सामग्री की आवश्यकता होगी | एक full wave rectifier में एक स्टेप डाउन सेन्टर टैब ट्रांसफार्मर , दो PN संधि डायोड 1N4007 तथा एक फिल्टर के लिए इलेक्ट्रोल्य्टिक कैपसिटर की आवश्यकता होगी |

full wave rectifier


निचे हम एक Full Wave Rectifier circuit Diagram बनायें है | तथा इस रेक्टिफायर को बनाने की विधि को निचे  पूरी तरह से वर्णन भी किये है | जिसके पढ़कर भी आप आसानी से एक full wave rectifier को बना सकते है |

Full Wave Rectifier in hindi
Full Wave Rectifier in hindi


पूर्ण तरंग दिष्टकारी बनाने की कार्यविधि 

1. सबसे पहले एक सेन्टर टैब ट्रांसफार्मर की प्राइमरी और सेकेंडरी की पहचान करें | इस ट्रांसफार्मर में जिस साइड पर सेन्टर टैब होती है बोले तो तीन तार होती है वह साइड सेकेंडरी होती है | 


2. अब ट्रांसफार्मर की पहली तथा तीसरी वायर कहे तो ऊपर वाली और सबसे निचे वाली वायर के साथ एक - एक PN जंक्शन डायोड को फॉरवर्ड बायस अवस्था में जोड़े |

3. इसके पश्चात दोनों डायोड के बचे हुए एक - एक सिरे को आपस में जॉइंट करे | 

4. अब डायोड के जॉइंट किये हुए सिरे तथा ट्रांसफार्मर के बचे हुए दुसरे तार के बिच कैपेसिटर को जोड़े |

ध्यान दे - कैपेसिटर की बड़ी लीड जो की पॉजिटिव होती है को जॉइंट किये हुए डायोड सिरे के साथ तथा कैपसिटर के दुसरे लीड को ट्रांसफार्मर के बचे हुए वायर के साथ कनेक्ट करें |

5. कैपेसिटर के दोनों सिरों से हमे डीसी सप्लाई प्राप्त होगी |

यह भी पढ़िए -


तो इस आर्टिकल में आपने पढ़ा Full Wave Rectifier पूर्ण तरंग दिष्टकारी किसे कहते है | उम्मीद करते है यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा | हमारे नये अपडेट की जानकारी के लिए हमे सोशल मीडिया पर फॉलो करें |

No comments:

Post a Comment