Article

Magnetic Materials | चुम्बकीय पदार्थ और उनके प्रकार क्या है

वर्तमानं में चुम्बक ने दुनियाँ में अपनी एक अलग ही पहचान बना रखी है , अभी आप जिस भी माध्यम से यह आर्टिकल पढ़ रहे है उसमें भी कहीं ना कहीं किसी ना किसी प्रकार के चुम्बक का उपयोग हुआ है |

इससे पहले वाले आर्टिकल में हम वैद्युतिक पदार्थों के बारे में पढ़ चुके है लेकिन इस आर्टिकल में हम चुम्बकीय पदार्थों के बारे में जानेंगे , Magnetic Materials चुम्बकीय पदार्थ क्या होते है तथा कितने प्रकार के होते है

नमस्कार और स्वागत है आपका एस.के. आर्टिकल डॉट कॉम में ...
Magnetic Materials , Magnetic Materials in hindi
Magnetic Materials in hindi

Magnetic Materials | चुम्बकीय पदार्थ क्या है 

पृथ्वी पर कुछ ऐसे पदार्थ मौजूद है जिनका उपयोग किसी चुम्बक की चुम्बकीय बल रेखाओ को आकर्षित करने , प्रतिकर्षित करने तथा चुम्बक बनाने में किया जाता है | 

यह पदार्थ कुछ ऐसे पदार्थ होते है जो चुम्बक की चुम्बक शीलता को प्रभावित करते है | इन धात्विक और अधात्विक प्रकार के पदार्थ के उपयोग से ही आज हम विभिन्न प्रकार के अलग - अलग चुम्बक को देख सकते है और कई जगह पर उनका उपयोग कर सकते है | आइये जानते है अब यह पदार्थ कितने प्रकार के होते है तथा कौन - कौन से होते है | 

Types Of Magnetic Materials | चुम्बकीय पदार्थों के प्रकार 

चुम्बकीय पदार्थ मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते है -
  1. Ferromagnetic Materials | लौह चुम्बकीय पदार्थ 
  2. Para Magnetic Materials | अनुचुम्बकीय पदार्थ 
  3. Dia Magnetic Materials | प्रतिचुम्बकीय पदार्थ 

1. Ferro Magnetic Materials | लौह चुम्बकीय पदार्थ

ऐसे पदार्थ जिन्हें यदि चुम्बकीय क्षेत्र में रखने पर चुम्बक बन जाये तो उन पदार्थों को लौह चुम्बकीय पदार्थ FerroMagnetic Material कहा जाता है |

दुसरे शब्दों में समझे तो  " वह पदार्थ जिन्हें किसी शक्तिशाली चुम्बक के नजदीक लाने पर उसके ध्रुवों की और तेजी गति से आकर्षित होते है , लौह चुम्बकीय पदार्थ कहलाते है" |
लौह चुम्बकीय पदार्थों में चुम्बकशीलता का मान इकाई से बहुत अधिक और अधिकतम 1000 तक होता है |

फैरो चुम्बकीय पदार्थ - लौहा , निकिल , कोबाल्ट , फौलाद तथा इनकी मिश्र धातुएं आदि |

2. Para Magnetic Materials | अनु चुम्बकीय पदार्थ 

वह पदार्थ जिन्हें किसी शक्तिशाली चुम्बकीय क्षेत्र में रखने पर उस चुम्बक की चुम्बकीय बल रेखाओं में वृद्धि हो जाती है , अनु चुम्बकीय पदार्थ Para Magnetic Materials कहलाते है |

दुसरे शब्दों में " जिन  पदार्थों को चुम्बकीय क्षेत्र में रखे जाने पर यह चुम्बक नही बनते है लेकिन चुम्बकीय बल रेखाओं की संख्या में वृद्धि कर देते है , अनु चुम्बकीय पदार्थ कहलाते है " |
पैरा चुम्बकीय पदार्थों में चुम्बकशीलता का मान इकाई से कुछ अधिक होता है |

पैरा-चुम्बकीय पदार्थ - कॉपर , एल्युमिनियम , सोडियम , प्लेटिनम , मैगनीज ,चाँदी , वायु आदि |

3. Dia Magnetic Materials | प्रति चुम्बकीय पदार्थ 

ऐसे पदार्थ जिन्हें किसी भी चुम्बक के चुम्बकीय क्षेत्र में रखे जाने पर ना तो वह चुम्बक बनते है ना ही उनमे किसी प्रकार का चुम्बकत्व पैदा होता है | Dia Magnetic Materials में से यदि किसी चुम्बक की चुम्बकीय बल रेखाओं को गुजारे तो चुम्बकीय बल रेखाएं घट जाती है | 

दुसरे शब्दों में कहे तो " वह पदार्थ जिन्हें किसी चुम्बक के सिरों के नजदीक लाने पर प्रतिकर्षित हो जाएँ तो ऐसे पदार्थों को प्रति चुम्बकीय पदार्थ कहा जाता है" | 
डाया चुम्बकीय पदार्थों में चुम्बकशीलता का मान इकाई  से कुछ कम होता है |

डाया चुम्बकीय पदार्थ - जस्ता , हिरा , बिस्मथ ,  एंटीमनी , जल आदि | 

[ यह भी पढ़िए ]




तो इस आर्टिकल में आपने पढ़ा Magnetic Materials के बारे में | उम्मीद करते है आपको आर्टिकल पढने तथा समझने में कोई परेशानी नही आई होगी | यदि यह आर्टिकल आपके लिए हेल्पफुल रहा हो तो कृपया इसे अपने साथियों के साथ भी जरुर शेयर करे |


No comments:

Post a Comment