सुरक्षा किसे कहते है और सुरक्षा कितने प्रकार की होती है | Suraksha kise kahate hai or suraksha kitane prakar ki hoti hai ?

By | 08/23/2018

किसी भी कार्य को करते समय इलेक्ट्रीशियन को कुछ सुरक्षा का ध्यान रखना पड़ता हे जिससे की काम कर रहे इलेक्ट्रीशियन को कोई क्षति न पहुंचे , इससे अतिरिक्त जिस वस्तु पर काम कर रहे हे तथा जिन टूल्स और मशीनो का उपयोग कर रहे हे उन्हें भी किसी प्रकार का कोई नुकसान न हो जिसे इलेक्ट्रीशियन सेफ्टी या सुरक्षा कहा जाता है | 

what is safety , electrician safety , electrician tools safety , electrician machine safety , electrician job safety , types of safetyelectrician,electrical safety,safety,electrical,electrician (profession),local electrician,electricity,electrician theory,electrican safety,electrical hazards,iti electrician,electrician theory in hindi,electrical safety tips,residential electrician,what is electrical safety,electrical safety videos,electrical safety in hindi,electrical saftey,electrical safety video clip,free electrical safety video,electrical safety videos osha
safety & Types of safety
 

कौन सा टॉपिक पढेगे उस पर क्लिक करें -

सुरक्षा किसे कहते है

Electrician safety (विद्युतकार सुरक्षा )

किसी इलेक्ट्रीशियन द्वारा किसी कार्य को करते समय अपने स्वयं की सुरक्षा के साथ साथ किये जाने वाले कार्य मे उपयोग आने वाली सामग्री , मशीन ,उपकरण एवं औजार की सुरक्षा करना इलेक्ट्रीशियन सेफ्टी  या विद्युतकार सुरक्षा कहलाता है | कार्य के दौरान किसी दुर्घटना से बचने के लिए सुरक्षा का पूर्ण ध्यान रखना किये चाहिए |

सुरक्षा कितने प्रकार की होती है

Types Of Safety | सुरक्षा के प्रकार

सुरक्षा मुख्य रूप से तीन प्रकार की होती है

1. स्वयं की सुरक्षा

एक इलेक्ट्रीशियन जब भी कोई काम करें तो उस काम को करते समय उसे किसी भी प्रकार की चोट ना लागे अथवा उसके साथ दुर्घटना ना हो इसके लिए इलेक्ट्रीशियन द्वारा बरती जाने वाली सावधानी स्वयं की सुरक्षा कहलाता है |

जैसे – हाथो मे दस्ताने पहनकर काम करना , पाँव मे उच्च अचालक वाले जूते पहनना , विद्युत कार्य करते समय नशीले पदार्थो का सेवन ना करना आदि |

2. विद्युत सामग्री की सुरक्षा

किसी इलेक्ट्रीशियन द्वारा काम करते समय उस काम मे उपयोग आने वाली सामग्री अथवा छोटे पुर्जे को टूटने से बचाने के लिए रखी जाने वाली सावधानी को विद्युत सामग्री की सुरक्षा कहलता है |


जैसे – लकड़ी का बोर्ड काटते समय बोर्ड की सुरक्षा , बोर्ड मे स्विच , सॉकेट , होल्डर कसते समय आदि |

3. यंत्रो अथवा औजारों की सुरक्षा

आप जिन मशीनो पर काम रहे है उनका समय समय पर देखभाल करना चाहिए जिससे उनको जलने अथवा ख़राब होने से बचाया जा सके |

इसके अतिरिक्त आप कार्य के दौरान जिन टूल्स का उपयोग कर रहे है उनका सही उपयोग करना चाहिए एवं उनकी अनुरक्षण करनी चाहिए |


जैसे – मशीनो मे समय समय पर आयल ग्रीस करना , मशीनो के ढीले पुर्जो को कसना , जिस जगह पर जो औजार काम मे आता है उसी का उपयोग करना आदि |

इस चेपटर से और पढ़े 

Final word – यह नोट्स आर्टिकल सुरक्षा किसे कहते है यदि आपको पसंद आया हो तो कृपया इसे अपने साथियो के साथ भी शेयर करे ,शेयर करना बिलकुल फ्री हे इससे आपके फ्रेंड्स को फायदा ही होगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *