Electrolyte | विद्युत अपघट्य क्या होता है

हम डेली कुछ ऐसे वैद्युतिक उपकरण का उपयोग करते है जो की हमें हमारे दैनिक  गतिविधि को सरल बनाने में उपयोग किये जाते है | मोबाइल बैटरी या इन्वर्टर बैटरी आज हमारे लिए महत्वपूर्ण साधन बन गये है |

इन बैटरी के निर्माण में एक विशेष प्रकार की सामग्री का उपयोग किया जाता है जिसे इलेक्ट्रोलाइट कहा जाता है |

यदि आप भी जानना चाहते है की Electrolyte विद्युत अपघट्य क्या होता है और इनका उपयोग क्यों और किस लिए किया जाता है | तो यह आर्टिकल आप पूरा जरुर पढ़ें |

नमस्कार और स्वागत है आपका SK Article में ..

Electrolyte kya hota hai

विद्युत अपघट्य क्या होता है 

कुछ द्रव पदार्थ या विलयन ऐसे होते है जिनमें यदि करंट को प्रवाहित किया जाये तो उनमें करंट आसानी से प्रवाहित ( बहने ) होने लगती है | सामान्यत ऐसे विलयन अम्लीय और अकार्बनिक विलयन होते है | इनके अन्दर विद्युत धारा प्रवाहित होते ही इनकी सरचना में परिवर्तन होना शुरू हो जाता है | यह परिवर्तन विलयन के आयनों में विभक्त होने के कारण होता है | 

वही दूसरी और कार्बनिक और अम्ल रहित विलयन होते है | कार्बनिक विलयन जैसे वानस्पतिक तेल , एल्कोहल , स्प्रिट आदि एवं आसुत जल जैसे विलयन अम्ल रहित विलयन कहलाते है | इन विलयन में यदि हम विद्युत धारा प्रवाहित करें तो इनमे विद्युत धारा ( करंट ) प्रवाहित नही हो पाती है |

यहाँ कुछ विलयन ऐसे है जिनमे करंट प्रवाहित हो सकती है और कुछ विलयन ऐसे है जिनमे करंट प्रवाहित नही हो पाती है | तो ऐसे विलयन जिनमे करंट प्रवाहित करने पर उनकी सरचना में परिवर्तन हो जाता है उन्हें ही हम इलेक्ट्रोलाइट या विद्युत अपघट्य कहते है |

विद्युत अपघट्य के उपयोग क्या है 

विद्युत अपघट्य क्या है यह तो हम जन चुके है | जब भी किसी विद्युत अपघट्य में करंट प्रवाहित की जाती है | तो उस विलयन में विद्युत अपघटन की क्रिया शुरू हो जाती है | और इस क्रिया के फलस्वरूप इलेक्ट्रोलाइट ( विद्युत अपघट्य ) धन आयन और ऋण आयन में विभक्त हो जाता है |

यह वही क्रिया है जिससे हम अपने मोबाइल , लैपटॉप या इन्वर्टर की बैटरी को चार्ज करते है | यानि की विद्युत अपघट्य का उपयोग सेल , बैटरी या कैपेसिटर जैसे आवेश एकत्रित करने वाली युक्तियों में करते है |

आपको यह भी पढना चाहिए –

Electrolyte IMP Questions Answers in Hindi

प्रश्न 1. विद्युत अपघट्य के लिए किस प्रकार की विद्युत धारा का प्रयोग किया जाता हैं?

उत्तर-:डी सी विद्युत धारा का प्रयोग किया जाता हैं

प्रश्न 2. विद्युत अपघट्य शुद्ध जल का प्रयोग ही किया जाता हैं क्यों?

उत्तर-: शुद्ध जल का प्रयोग इसलिए किया जाता हैं क्योकि यह स्थानीय क्रिया को रोके रखता है और उस क्रिया को धीमी कर देता है

प्रश्न 3. विद्युत अपघट्य की क्रिया करने के लिए कितने इलेक्ट्रोड का प्रयोग किया जाता हैं?

उत्तर-: दो इलेक्ट्रोड का प्रयोग किया जाता हैं एक एनोड और दूसरा कैथोड

प्रश्न 4. विद्युत अपघट्य की क्रिया किस तरह के पात्र में की जाती हैं?

उत्तर-: विद्युत अपघट्य की क्रिया हमेशा मिट्टी के बर्तन या चीनी मिट्टी के बड़े से बर्तन के टैंक में संपन्न की जाती हैं।

प्रश्न 5. विद्युत अपघट्य प्रक्रिया में कैथोड की प्लेट पर जाने वाले आयनों को क्या कहा जाता हैं?

उत्तर-: विद्युत अपघट्य प्रक्रिया में कैथोड की और जाने वाले आयनों को धनात्मक आयंस कहा जाता हैं

प्रश्न 6. विद्युत अपघट्य प्रक्रिया में एनोड की और जाने वाले आयंस को क्या कहा जाता हैं?

उत्तर-: एनोड की और जाने वाले आयंस को ऋण आयंस कहा जाता हैं।

प्रश्न 7. विद्युत अपघट्य की प्रक्रिया के क्या क्या प्रयोग होते हैं?

उत्तर-: विद्युत अपघट्य प्रक्रिया इलेक्ट्रोड प्लेटिंग में, धातु शोधन प्रक्रिया में, और इलेक्ट्रोड टाईपिंग प्रक्रिया की जाती है।

प्रश्न 8.विद्युत अपघट्य प्रक्रिया के द्वारा चांदी की धातु पर परत चड़ाने के लिए किस प्रकार के घोल का प्रयोग किया जाता हैं।

उत्तर-: चांदी की परत चड़ाने के लिए सिल्वर नाइट्रेड(AgNO3) के घोल का प्रयोग किया जाता हैं।

प्रश्न 9. एलेक्ट्रोलाईंट की अवस्था को काई में व्यक्त किया जाता हैं?

उत्तर-: एलेक्ट्रोलाईंट की अवस्था को अपेक्षित घनत्व के रूप में व्यक्त किया जाता हैं।

प्रश्न 10. एलेक्ट्रोलाईंट बनाते समय स्पेसिफिक ग्रेविटी कितनी अधिक या कम होनी चाहिए?

उत्तर-: विद्युत अपघट्य प्रक्रिया में चार्ज में 1250 से 1280 और डिस्चार्ज होने पर 1150 से 1200 तक अधिक होनी चाहिए।

निष्कर्ष – तो इस आर्टिकल में हमने जाना इलेक्ट्रोलाइट या विद्युत अपघट्य क्या होता है | उम्मीद करते है आपको यह जानकारी पसंद आई होगी | इस टॉपिक से जुड़ा आपका अन्य कोई भी सवाल हो तो आप हमें निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर  सकते है | और हमसे जुड़े रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें | 

Leave a Comment

error: Content is protected !!