Best Conductor of Electricity | विद्युत् कार्यों में उपयोग आने वाले चालक कौन कौन से है


जितने भी बिजली उपकरण है उन्हें चलाने के लिए हमे चालक तार की आवश्यकता होती है | वैद्युतिक कार्यों में उपयोग आने वाले का उपकरण एवं उपकरण के कार्य के अनुसार अलग – अलग प्रकार के चालक तार का उपयोग करना होती है | 

यदि आप जानना चाहते है Best Conductor Of Electricity के बारे में की वैद्युतिक चालक तार के प्रकार के बारे में , उपयोग एवं गुण के बारे में तो यह आर्टिकल आप आखरी तक पढ़े | इस आर्टिकल में आपको सभी प्रकार के चालक तार के बारे में पढने को मिलेगी |

नमस्कार और स्वागत है आपका एस.के.आर्टिकल डॉट कॉम में …. 

Best Conductor of Electricity
Best Conductor of Electricity


Best Conductor Of Electricity

विद्युत् चालक तार उपयोग के आधार पर अलग – अलग प्रकार के होते है | किसी चालक तार की चालकता अच्छी होती है तो किसी किसी की प्रतिरोधकता लेकिन हर चालक तार अपनी – अपनी जगह उपयोग के लिए बेस्ट होता है | 

Types Of Conductor

चालक तार कई प्रकार के होते है –

  • चांदी 
  • कॉपर 
  • एल्युमिनियम 
  • पीतल 
  • नाइक्रोम 
  • टंग्स्टन 
  • जस्ता 
  • निकिल 
  • गैल्वेनाइज्ड  
  • टिन 
  • जर्मन सिल्वर 
  • मैग्निन 
  • सीसा 
  • यूरेका 
  • प्लेटिनियम 
  • मरकरी 
  • कार्बन 

Good Conductor Of Electricty 

विद्युत् के अच्छे सुचालक पदार्थ जिनका प्रतिरोध कम और चालकता अच्छी होती है –

1. चांदी – यह विद्युत् का सबसे अच्छा चालक है | यह कम विशिष्ट प्रतिरोध वाली धातु होती है | 
उपयोग – चांदी का उपयोग रिले , कांटेक्टर्स , स्टार्टर आदि के कांटेक्ट पॉइंट बनाने में किया जाता है |

2. कॉपर – चांदी की अपेक्षा इसका विशिष्ट प्रतिरोध कुछ ज्यादा होता है | और यह चांदी से काफी सस्ती होती है |
उपयोग – ताम्बे का उपयोग सप्लाई वायर, केबल , अर्थिंग इलेक्ट्रोड , बस बार आदि बनाने में किया जाता है |

3. एल्युमिनियम – यह तांबे की अपेक्षा सस्ती धातु है , इसकी चालकता अच्छी होती है | तांबे से हलकी एवं सस्ती धातु होने के कारण वर्तमान में वैद्युतिक कार्यों में इसका उपयोग काफी अधिक किया जाता है |
उपयोग – एल्युमिनियम का उपयोग ओवरहेड लाइन की तार , केबल , घरेलु एवं औद्योगिक वायरिंग में किया जाता है |

4. पीतल  –  यह तन्य , आघात्वर्ध्य धातु होती है | यह एक जंगरोधी धातु होती है | 
उपयोग – Brass धातु का उपयोग स्विच , सॉकेट , होल्डर , अन्य वैद्युतिक उपकरणों के कांटेक्टर्स , स्क्रू आदि बनाने में किया जाता है |

5. सीसा – यह सलेटी रंग की नर्म एवं भारी धातु होती है | 
उपयोग – Lead का उपयोग लेड एसिड बैटरी के सेलों की प्लेट बनाने में , अंडरग्राउंड केबल पर नमी एवं जंगरोधी सुरक्षा आवरण चढाने में , तीन की मिश्र धातु के रूप में , फ्यूज तार तथा सोल्डर बनाने में किया जाता है |


यह भी पढ़ेचालक , अचालक एवं अर्द्धचालक पदार्थ किसे कहते है 



6. जर्मन सिल्वर – यह एक मिश्र धातु है जिसमे तांबा , निकिल एवं जस्ता शामिल होता है | यह वातावरण से ज्यादा प्रभावित नही होती है |
उपयोग – जर्मन सिल्वर का उपयोग उच्च गुणवता वाले उपकरणों में पीतल की जगह किया जाता है |

7. निकिल – यह एक सफ़ेद रंग की जंगरोधी धातु है |
उपयोग – इसका उपयोग निकिल आयरन सेलों की प्लेटे तथा धातुओं पर जंगरोधी परत चढाने में किया जाता है |

यह भी पढ़े – 

 8. जस्ता – यह नर्म एंव जंगरोधी धातु है |इसका अधिकतम उपयोग धातुओं को गैल्वेनाइज्ड करने के लिए किया जाता है |
उपयोग – Zinc का उपयोग लौहे के तार , चादर तथा पाइप पर जंगरोधी परत चढाने एवं ड्राई सेलों के खोल बनाने के लिए किया जाता है |

9. टिन – यह बहुत ही नर्म एवं जंगरोधी धातु है | यह वातावरण के प्रभावों से अप्रभावित होने वाली धातु होती है | 
उपयोग – टिन धातु का उपयोग फ्यूज तार के लिए लेड के साथ मिश्र धातु के रूप में किया जाता है इसके अतिरिक्त इसका उपयोग ,सोल्डर  बनाने , धातुओं के तारों  पर जंगरोधी परत चढाने में किया जाता है | 

10. टंग्स्टन – यह उच्च गलनांक वाली , तन्य एवं कठोर धातु होती है |
उपयोग – टंग्स्टन का उपयोग विद्युत् बल्बों के फिलामेंट ( तंतु ) बनाने में किया जाता है | 

यह भी पढ़ेंसोडियम वेपर लैंप क्या है 

11. नाइक्रोम – यह एक उच्च गलनांक वाली मिश्र धातु है जिसमे निकिल और क्रोमियम क्रमशः 80 अनुपात 20 में मिलाया जाता है  | यह एक उच्च प्रतिरोध वाली धातु है | 
उपयोग -नाइक्रोम का उपयोग विद्युत् हीटर , विद्युत् केतली , गीजर , हॉट प्लेट , हॉट एयर ब्लोवर ,विद्युत् प्रेस , टोस्टर , ओवन आदि में किया जाता है | 

12. मैग्निन – यह तांबा , मैगनीज तथा निकिल से बनी मिश्र धातु होती है | 
उपयोग – मैग्निन का उपयोग प्रतिरोधक बनाने में किया जाता है |

13. यूरेका – यह उच्च विशिष्ट प्रतिरोध वाली तन्य धातु होती है | इसे निकिल और तांबे के मिश्रण से बनाया जाता है | 
उपयोग – यूरेका का उपयोग कम ऊष्मा पैदा करने वाले प्रतिरोधक , रेगुलेटर आदि बनाने में किया जाता है | 

14. प्लेटिनम – यह चांदी की तरह एक महंगी धातु है लेकिन चांदी की तुलना में काफी कठोर होती है | 
उपयोग -इसका उपयोग कांटेक्ट पॉइंट बनाने में किया जाता है | 

15. पारा – यह एक द्रव धातु होती होती है जो सामान्य तापक्रम में द्रव अवस्था में पाई जाती है | 
उपयोग – मरकरी का उपयोग मरकरी वेपर लैंप में पारे की वाष्प के रूप तथा थर्मा मीटर में किया जाता है | 

यह भी पढिये – 


तो इस इस आर्टिकल में आपने पढ़ा Best Conductor Of Electricity उम्मीद करते है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा | इस आर्टिकल को कृपया अपने साथियों के साथ जरुर शेयर करे | 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!