Voltage किसे कहते है ? और voltage Formula कहाँ और किस स्थति में लगता है ?

पिछले पोस्ट में हम विद्युत वाहक बल के बारे में पढ़े थे | आज हम पढने वाले है वोल्टेज के बारे में… यूँ तो वोल्टेज विद्युत वाहक बल का ही कार्य करता है लेकिन इसमें और विद्युत वाहक बल में कुछ अंतर होता है | यदि आप विस्तार से जानने की इच्छा रखते है की Voltage किसे कहते है ( voltage in hindi ) , voltage की unit मात्रक क्या है , किन -किन स्थति में हम voltage formula लगा सकते है तथा voltage से जुडी सभी जानकारी |   

हे नमस्कार ..! आप पढ़ रहे है इलेक्ट्रिकल वाले डॉट कॉम

voltage in hindi
voltage in hindi

वोल्टेज की परिभाषा | voltage Definition in Hindi

” Voltage एक प्रकार का बल होता है जो किसी विद्युत परिपथ में इलेक्ट्रान को धक्का लगाने का कार्य करता है ,इसी बल या धक्के के कारण इलेक्ट्रान किसी विद्युत सर्किट में प्रवाहित होते है या कहे की सर्किट में विद्युत धारा प्रवाहित होती है |

वोल्टेज को ‘V’ से प्रदर्शित किया जाता है और वोल्टेज की यूनिट या मात्रक ‘ volt ‘ होता है | जिसे voltmeter से मापा जाता है |   

 

वोल्टेज क्या है | what is voltage in hindi

किसी भी विद्युत परिपथ का वोल्टेज के बिना कोई भी महत्व नही होता है जब तक वोल्टेज इलेक्ट्रान को धक्का ना लगाये तब तक सर्किट में विद्युत धारा प्रवाहित नही होती है और अगर विद्युत धारा प्रवाहित ना हो तो वो सर्किट हमारे किसी काम में नही आता है |   

वोल्टेज को मापने के लिए वोल्टमीटर का उपयोग किया जाता है और यह ए.सी. सर्किट में फेज तथा न्यूट्रल तारो के मध्य तथा डी.सी. सर्किट में धन तथा ऋण तारो के मध्य वोल्ट मीटर को सामान्तर क्रम में जोड़कर मापा जाता है |   

सर्किट में लोड को श्रेणी तथा सामान्तर क्रम में जोड़ने से सर्किट के वोल्टेज का मान भी अलग – अलग हो जाता है | यदि सर्किट में लोड को श्रेणी क्रम में जोड़ा जाये तो उस सर्किट में प्रत्येक लोड पर वोल्टेज का मान अलग – अलग होगा और यदि सर्किट में लोड को समान्तर क्रम में जोड़ा जाये तो प्रत्येक लोड पर वोल्टेज का मान समान होता है |   

हमारे घरो में सभी लोड समान्तर क्रम में जुड़े होते है इसीलिए सभी जगह हमे समान वोल्टेज प्राप्त होता है |

voltage Formula | वोल्टेज ज्ञात करने का सूत्र

किसी भी सर्किट में वोल्टेज की गणना करने के लिए किन्ही दो वैद्युतिक राशियों की आवश्यकता होती है |यदि किसी सर्किट में हमे किन्ही दो राशियों का मान पता हो तो हम वोल्टेज की गणना आसानी से कर सकते है | यह वैद्युतिक राशियाँ करंट , प्रतिरोध या पॉवर आदि होती है |  

आप सभी सूत्र को नुमेरिकल सवाल के द्वारा आसानी से समझ सकते है सभी सूत्र एवं उदाहरण देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – click here 

वोल्टेज को विस्तार से समझिए

वोल्टेज वह बल है जो किसी विद्युत परिपथ में इलेक्ट्रान को प्रवाहित करने के लिए उपयोग किया जाता है |बिना वोल्टेज के किसी भी विद्युत परिपथ में करंट प्रवाहित नही हो सकती है | यदि किसी विद्युत परिपथ में वोल्टेज का मान कम है तो उस परिपथ में प्रवाहित होने वाली करंट का मान भी कम होगा | इसे और समझने के लिए आपको ओह्म का नियम पढना चाहिए |

विद्युत वाहक बल के बारे में आप जानते है की यह किसी सेल , बैटरी या जनरेटर के टर्मिनल्स पर पाया जाता है | लेकिन वोल्टेज किसी भी विद्युत परिपथ के पॉजिटिव व नेगेटिव या फेज व न्यूट्रल वायर के बिच पाया जाता है |

सोर्स ऑफ़ सप्लाई के बाद और वैद्युतिक लोड से पहले वोल्टेज का मान पता कर सकते है | जहाँ किसी सोर्स ऑफ़ सप्लाई के टर्मिनल्स पर विद्युत वाहक बल को माप सकते है और लोड के सिरों पर विभवान्तर को माप सकते है वही परिपथ के बिच हम वोल्टेज का मापन कर सकते है |

विद्युत वाहक बल की तरह वोल्टेज को मापने के लिए भी वोल्टमीटर का ही उपयोग किया जाता है | और वोल्टेज की इकाई भी वोल्ट ही होती है | यहाँ वोल्टेज को V से तथा इसकी इकाई वोल्ट को v से प्रदर्शित करते है |

[ यह भी पढ़िए ]

Difference Between Voltage and EMF| विद्युत वाहक बल और वोल्टेज में प्रैक्टिकली अंतर

यदि विद्युत वाहक बल और वोल्टेज दोनों को सर्किट में लोड जोड़े बिना मापा जाये तो दोनों के मान में ज्यादा अंतर नही मिलता है | या कह सकते है की दोनों के मान में कोई अंतर नही होगा |लेकिन यदि सर्किट में लोड जोड़ दिया जाये तो हो सकता है दोनों के मान में कुछ अंतर मिले और इस अंतर में विद्युत वाहक बल का मान अधिक और वोल्टेज का मान थोडा कम हो सकता है |इसे और समझने के लिए इस सर्किट को देखें –

difference between voltage and emf

[ यह भी पढ़िए ]

Voltage IMP Point For Exam

  • वोल्टेज की इकाई या मात्रक वोल्ट होता है |
  • इसे वोल्ट मीटर से मापा जाता है |
  • वोल्टेज को V से प्रदर्शित करते है |
  • वोल्टेज का मान विद्युत् वाहक बल से कुछ कम होता है |
  • वोल्टेज मापने के लिए वोल्ट मीटर को हमेसा समान्तर क्रम में जोड़ा जाता है |
  • हमारे घरों में आने वाले वोल्टेज का मान 220 – 260 वोल्ट तक होता है |
  • 90 वोल्ट से अधिक पर मानव शरीर विद्युत झटके का अनुभव करने लगता है |
  • डीसी वोल्टेज मापने के लिए हमेसा मूविंग कोईल ( MC ) प्रकार के वोल्ट मीटर का उपयोग किया जाता है |
  • मूविंग आयरन ( MI ) टाइप वोल्ट मीटर AC और DC दोनों प्रकार की वोल्टेज का मापन कर सकता है |
  • सही वोल्टेज का मापन करने के लिए वोल्टेज हमेसा परिपथ में समान्तर क्रम में ही मापना चाहिए |
  • यदि वोल्टेज मापने के लिए वोल्टमीटर को श्रेणीक्रम में जोड़ दिया जाये तो सर्किट का वोल्टेज ड्राप होकर शून्य हो सकता है |

[ यह भी पढ़िए ]

Voltage IMP Questions Answers

प्रश्न – Voltage को किस अक्षर से दर्शया जाता है ?

उत्तर – Voltage को V से दर्शया जाता है

प्रश्न – Voltage की इकाई क्या होती है ?

उत्तर – Voltage की इकाई Volt होती है

प्रश्न – voltage को किस मीटर से मापा जाता है ?

उत्तर – voltage को Voltmeter से मापा जाता है .

प्रश्न – Voltage मापने के लिए voltmeter को किस क्रम में जोड़ा जाता है ?

उत्तर – Voltage मापने के लिए voltmeter को समानातर क्रम में जोड़ा जाता है .

प्रश्न – श्रेणी परिपथ में Total Voltage ज्ञात करने का सूत्र क्या है ?

उत्तर – श्रेणी परिपथ में Total Voltage = V1+V2+V3 से मापते है

प्रश्न – समानातर परिपथ में वोल्टेज का मान समान होता है?  

उत्तर – समानातर परिपथ में वोल्टेज का मान समान होता है

voltage in hindi – तो फ्रेंड्स यह थी वोल्टेज से जुडी कुछ सामान्य जानकरी … यदि यह आर्टिकल आपको पसंद आया हो तो कृपया निचे दिए गये शेयर बटन का उपयोग कर अपने  साथियों के साथ भी शेयर करे | और इस आर्टिकल से जुडी अन्य किसी भी प्रकार की सहायता , शिकायत एवं सुझाव के लिए हमे निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करे |

Leave a Comment

error: Content is protected !!