Article

स्टेप अप और स्टेप डाउन ट्रांसफार्मर क्या है | difference between step up and step down transformer in hindi

difference between step up and step down transformer in hindi
difference between step up and step down transformer in hindi
स्टेप अप और स्टेप डाउन ट्रांसफार्मर क्या है | difference between step up and step down transformer in hindi

जब भी ट्रांसफार्मर के द्वारा विद्युत को स्थान्तरित करने की बात आये तो वोल्टेज की आवश्यकता के अनुसार Step Up एवं Step Down ट्रांसफार्मर को ही उपयोग किया जाता है | यदि आप जानना चाहते हे की स्टेप अप एवं स्टेप डाउन ट्रांसफार्मर क्या होते है तथा इनमे क्या अंतर होता है एवं इनका उपयोग कहा किया जाता है तो यह आर्टिकल आपके लिए महत्वपूर्ण हो सकता है |

इससे पहले वाले आर्टिकल में हम ट्रांसफार्मर के बारे में और भी बहुत कुछ पढ़ चुके हे यदि आपने अभी तक इन आर्टिकल को नही पढ़ा हे तो मै आपसे कहना चाहुगा की पहले आप उन आर्टिकल को ध्यान से पढ़ ले ताकि यह आर्टिकल पढने में  आपको अच्छे से समझ आ सके |


यह भी पढ़िए - 



स्टेप अप ट्रांसफार्मर क्या है | Step Up Transformer In Hindi

वह ट्रांसफार्मर जो दी जाने वाली कम वोल्टेज को अधिक वोल्टेज में बदलते है step up Transformer कहलाते है |
Step Up Transformer In Hindi
Step Up Transformer In Hindi
जब विद्युत उत्पादन केंद्र पर विद्युत को उत्पन्न करने के बाद एक जगह से दूसरी जगह स्थान्तरित किया जाता है तब पैदा की जाने वाली विद्युत की वोल्टेज को अधिक करके भेजा जाता है | यह ट्रांसफार्मर अक्सर डेल्टा - डेल्टा प्रकार के होते है | सामान्यत पारेषण लाइन की इनपुट एक स्टेप अप ट्रांसफार्मर की आउटपुट से ही प्राप्त की जाती है |

एक स्टेप अप ट्रांसफार्मर की प्राइमरी वाइंडिंग में वोल्टेज तो कम होता है परन्तु धारा अधिक होती है | लेकिन सेकेंडरी वाइंडिंग में वोल्टेज अधिक होता है तथा धारा कम होती है |




स्टेप डाउन ट्रांसफार्मर क्या है | Step Down Transformer In Hindi 

वह ट्रांसफार्मर जो दी जाने वाली अधिक वोल्टेज को कम वोल्टेज में बदल देते है | Step Down Transformer कहलाते है |
Step Down Transformer In Hindi
Step Down Transformer In Hindi
जब विद्युत वितरण केन्द्रों से विद्युत को उपभोक्ता तक उपयोग के लिए पहुचाया जाता है तो वितरण केंद्र पर प्राप्त होने वाली अधिक वोल्टेज को कम करने के लिए स्टेप डाउन ट्रांसफार्मर का ही उपयोग करते  है | समान्यता यह ट्रांसफार्मर डेल्टा - स्टार प्रकार के होते है |

एक स्टेप डाउन ट्रांसफार्मर की प्राइमरी वाइंडिंग में वोल्टेज तो अधिक  होता है लेकिन करंट कम होता है | साथ ही सेकेंडरी वाइंडिंग में वोल्टेज तो कम होता है लेकिन करंट अधिक होता है |



तो इस आर्टिकल में आपने पढ़ा स्टेप अप और स्टेप डाउन ट्रांसफार्मर क्या है | difference between step up and step down transformer
यदि यह आर्टिकल आपको पसंद आता है तो कृपया अपने साथियों के साथ जरुर शेयर करे |और इसी प्रकार के आर्टिकल अपने फेसबुक पर पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करे |

No comments:

Post a Comment