Article

DC क्या है | Full Form Of DC Current क्या है विस्तार से जानिए


जिस साधन के द्वारा आप अभी यह आर्टिकल पढ़ रहे है चाहे मोबाइल हो या कंप्यूटर उसमें भी DC Current है | यहाँ आप Full Form Of DC Current के बारे में पढने वाले है |
यदि आप नही जानते की DC Current क्या है , DC Current का उपयोग कहाँ - कहाँ और क्यों किया जाता है , DC कहाँ से उत्पन्न होती है तो यह आर्टिकल आपके लिए महत्वपूर्ण हो सकता है |
नमस्कार और स्वागत है आपका एस.के. आर्टिकल डॉट कॉम में ....
full form of dc current
full form of dc current 


Full Form Of DC Current क्या है

जी हाँ अक्सर यह प्रश्न हमें कई परीक्षाओं में देखने को मिल जाता है | जिसमें हमें पूछा जाता है की DC का विस्तार रूप क्या है या Full Form Of DC Current बताइए | तो इसका जवाब होगा Direct Current हिंदी भाषा में इसे दिष्ट धारा कहा जाता है |

DC Current किसे कहते है

वह करंट जिसकी प्रवाह दिशा तथा मान बदलता नही नियत रहता है , DC Current कहलाती है |
किसी भी दिष्ट धारा पूर्ण परिपथ में मान व दिशा नियत रहने के कारण इसका उपयोग बहुत से ऐसे कार्यों में किया जाता है जहाँ हम AC प्रकार की विद्युत् धारा का उपयोग कर ही नही सकते |


DC कितने प्रकार की होती है

वैसे तो डीसी मुख्य रूप से तीन प्रकार की होती है | लेकिन डीसी चाहे किसी भी प्रकार की क्यों न हो उसकी प्रवाह दिशा में कोई परिवर्तन नही होता है प्रवाह दिशा हमेशा नियत ही रहती है |
डीसी धारा के प्रकार

  1. शुद्ध दिष्ट धारा [ Pure Direct Current ]
  2. परिवर्तनीय दिष्ट धारा [ Varying Direct Current ]
  3. प्लेसेटिंग दिष्ट धारा [ Pulsating Direct Current ]


DC के उपयोग क्या है

वैद्युतिक क्षेत्र के बहुत से कार्य ऐसे है जिसमें हमें डीसी की ही आवश्यकता होती है बिना डीसी प्रकार की करंट के यह कार्य नही हो सकते है | जैसे - बैटरी चार्जिंग , इलेक्ट्रोप्लेटिंग , धातु शोधन , अर्क वेल्डिंग , इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरणों के प्रचालन , डीसी मोटर के प्रचालन , इलेक्ट्रोमेग्नेट , आर्क लैंप आदि में किया जाता है |


इस आर्टिकल में आपने जाना Full Form Of DC Current के बारे में |उम्मीद करते है आपको यह छोटी सी जानकारी आपको पसंद आई होगी | आप इसी प्रकार के आर्टिकल अपने फेसबुक , व्हाट्सअप्प पर पढना चाहते है तो कृपया हमें निचे दिए गये सोशल मीडिया पर फॉलो करें |


No comments:

Post a Comment