ट्रांसफार्मर को ठंडा करने की विधियाँ | Cooling Of Transformer

Cooling Of Transformer – ट्रांसफार्मर में यूँ तो कई पार्ट्स उपयोग किये जाता है | प्रत्येक पार्ट्स का अपना अपना एक काम होता है | ट्रांसफार्मर कंटिन्यू हमें बिजली देने का काम करता रहता है | ऐसे में ट्रांसफार्मर की वाइंडिंग में उत्पन्न होने वाली Heat ( ऊष्मा ) ट्रांसफार्मर और वाइंडिंग को गर्म कर देती है जिसके कारण कई नुकशान होते है |

इसलिए ट्रांसफार्मर को ठंडा करना जरुरी हो जाता है | यदि आप भी जानना चाहते है की ट्रांसफार्मर को किन किन विधियों से ठंडा किया जाता है ( Cooling of Transformer ), ट्रांसफार्मर का शीतलीकरण कैसे करें , तो यह आर्टिकल आपको पूरा पढना चाहिए |

cooling of transformer

ट्रांसफार्मर को ठंडा करना क्यों जरुरी है |Cooling Of Transformer

ट्रांसफार्मर केवल AC सप्लाई पर ही काम करता है, और यह एक स्थिर उपकरण है | इसलिए इस प्रकार ट्रांसफार्मर में वाइंडिंग के बीच में कोई भी इंसुलेटर नही होता है और इस को हमेशा इलेक्ट्रिकल लोड के साथ ही जोड़ कर रखा जाता हैं |

ट्रांसफार्मर को इलेक्ट्रिकल लोड पर जोड़ा होने के कारण ट्रांसफार्मर में बहुत सारी हानियाँ उत्पन्न होती हैं | जैसे हिस्टैरिसीस हानि , ताम्र हानि , भंवर धारा हानि आदि | ट्रांसफार्मर में होने वाली इन हानियों के कारण ट्रांसफार्मर में अधिक गर्मी उत्पन्न होती हैं |

ट्रांसफॉर्मर की वाइंडिंग ज्यादा गर्म होने के कारण उसकी वाइंडिंग में जो हानियाँ उत्पन्न होने लगेगी उसको कॉपर हानि कहते हैं और ट्रांसफॉर्मर के किनारों पर या कोरो पर भी जो हानियाँ उत्पन्न होने होगी होने लगती हैं उसको लोह हानियाँ कहते है|

ट्रांसफॉर्मर के गर्म होने पर होने वाली इन सभी हानियों को कम नही किया जाएं तो ट्रांसफॉर्मर जो गर्मी उत्पन्न होगी उसके कारण ट्रांसफार्मर की वाइंडिंग अधिक गर्म होने लगेेगी और अधिक गर्मी से ट्रांसफॉर्मर की वाईंडिग के जलने का खतरा बना रहता है |

जब ट्रांसफॉर्मर गर्म होने लगेगा तब ट्रांसफॉर्मर की कार्य करने की दक्षता भी कम होने लगेेगी और ट्रांसफॉर्मर ज्यादा समय के लिए कार्य नही कर पायेगा इसीलिए ट्रांसफॉर्मर को गर्म होने से बचाने के लिए ट्रांसफॉर्मर को ठंडा रखा जाता हैं |


इसको हम इस प्रकार भी समझ सकते हैं कि जब किसी भी मोटर या किसी जनरेटर को या किसी भी अन्य मशीन को घुमाया जाएं तब इसमे घर्षण उत्पन्न होता है और इन सभी घूर्णीय मशीनों में घर्षण के कारण उष्मा उत्पन्न होंगी और मशीन के घूमने वाला भाग गर्म होने लगता हैं और इस भाग को ठंडा रखने के लिए इसके साथ एक फेन लगाया जाता है|

लेकिन ट्रांसफॉर्मर मे घूमने वाले भाग नही होते है इसलिए ट्रांसफार्मर को ठंडा रखने के लिए कुछ व्यवस्था करनी पड़ती है जिसके कारण ट्रांसफार्मर को ठंडा रखा जा सकता हैं| इसीलिए ट्रांसफॉर्मर को ठंडा रखने के लिए कुछ ट्रांसफार्मर का शीतलीकरण विधियों का उपयोग किया जाता है |

[ यह भी पढ़िए ]

ट्रांसफार्मर को ठंडा करने की विधियाँ | Transformer Cooling Methods

ट्रांसफॉर्मर को ठंडा रखने के लिए कुछ विधियाँ प्रयोग में लायी जाती हैं जो निम्नलिखित प्रकार की है-

  1. प्राकृतिक हवा रूप मे ठंडा रखने की विधि के द्वारा (Natural Air Cooling Method )
  2. हवा के बड़े- बड़े पंखों से हवा का जोर से प्रयोग करके Forced Air Cooling)
  3. तेल मे डूबे हुए अपने आप ठंडा होने वाली विधि (Oil Immersed Oil Cooling)
  4. तेल मे डुबा हुआ पानी से ठंडा होने वाला ( Oil Immrsed Water Cooling)
  5. तेल में डूबा कर आयल ब्लास्ट विधि द्वारा ठंडा रखना (Oil Blast Coतेलoling Method)
  6. हवा के द्वारा ब्लास्ट करके (Air Blast Method)

1 प्राकृतिक हवा के रूप मे ठंडा रखने की विधि के द्वारा |Natural Air Cooling Method

इस विधि के द्वारा अधिकतर ऐसे ट्रांसफॉर्मरों को ठंडा रखा जाता है जिनका साइज छोटा होता है | अधिकतर छोटे- छोटे ट्रांसफॉर्मरों को को ठंडा रखने के लिए इस प्रकार की विधि का उपयोग करते हैं | इस विधि का प्रयोग कम क्षमताओं वाले ट्रांसफॉर्मर मे किया जाता हैं |

कम क्षमताओं वाले ट्रांसफॉर्मर की कोरो का क्षेत्रफल इतना अधिक रखा जाता हैं ट्रांसफॉर्मर मे उत्पन्न पर्याप्त उष्मा को अपने अंदर अवशोषित कर ले है ताकि ट्रांसफॉर्मर में उत्पन्न उष्मा को बाहर के प्राकृतिक वातावरण में उष्मा का विसरण कर दिया जाएं इस तरह के ट्रांसफॉर्मर को आवश्यक प्रकार से प्राकृतिक रूप या प्राकृतिक हवा से ठंडा रखा जाता हैं ये ट्रांसफॉर्मर लगभग 10KVA , 15KVA या लगभग 20KVA तक के ट्रांसफॉर्मर हो सकते हैं।

[ यह भी पढ़िए ]

2 हवा का जोर से प्रयोग करके | Forced Air Cooling

इस प्रकार की विधि का प्रयोग ट्रांसफॉर्मर की वाइंडिंग को ठंडा रखने के लिए किया जाता हैं | हवा के बड़े- बड़े पंखों को ट्रांसफॉर्मर के ऊपर लगाया जाता हैं और ट्रांसफॉर्मर की वाइंडिंग के ऊपर हवा को पूरी तरह से फोर्स से प्रयोग करके हवा को वाइंडिंग पर फेका जाता हैं |

ट्रांसफॉर्मर को ठंडा रखने की इस विधि के द्वारा सब स्टेशनों के ट्रांसफॉर्मर को रखने मे प्रयोग किया जाता हैं | इस प्रकार की विधि का कम प्रयोग किया जाता हैं | क्योंकि इसके पंखे को बार -बार देखना पड़ता है कि पंखा चालू है या बंद है |

[ यह भी पढ़िए ]

3 तेल मे डूबे हुए अपने आप ठंडी होने वाली विधि | Oil Immersed Oil Cooling

इस प्रकार की विधि में एक ऑयल टैंक होता है | जिसके अंदर आयल को भरा होता है और उस टैंक के अंदर ट्रांसफॉर्मर की वाइंडिंग को को डूबा कर रख दिया जाता हैं | टैंक मे प्रयोग होने वाला तेल केवल ट्रांसफार्मर को ही ठंडा नही रखता बल्कि वाइडिगं के लिए यह इनसुलेशन का भी काम करता है |

इस प्रकार के ऑयल को ही ट्रांसफॉर्मर ऑयल ( मोबिल आयल ) कहा जाता हैं | इस प्रकार की विधि में जब ट्रांसफॉर्मर का ऑयल गर्म होता है तो उस समय वह गर्म ऑयल ट्रांसफॉर्मर में ट्रांसफॉर्मर वाइंडिंग से अलग होने लगता हैं और और खाली जगह को भरने में ट्रांसफॉर्मर की वाइंडिंग में ठण्डा आयल आ जाता हैं |

इस तरह से ट्रांसफॉर्मर में यह प्रक्रिया लगातार चलती रहती हैं और इस प्रकार की विधि के प्रयोग से ट्रांसफॉर्मर हमेशा ठंडा रहता है और ट्रांसफॉर्मर ज्यादा गर्म नही होता है | यह सबसे ज्यादा अच्छी विधि है ट्रांसफॉर्मर को ठण्डा रखने की |

इस विधि में लिए इसके ऑयल टैंक के दोनों साइड में पाइप लगाये जाते हैं जिनका प्रयोग ट्रांसफॉर्मर के ऑयल टैंक को ठंडा रखना है इस प्रकार के पाइपो को कूलिंग पाइप भी कहा जाता हैं |

ट्रांसफॉर्मर का जितना भी तेल गर्म होता है और गर्म होने के साथ साथ हल्का भी होने लगता है और हल्का होकर वो सारा ऑयल टैंक मे ऊपर की और उठने लगता हैं ऊपर की तरफ उठने वाला तेल कूलिंग पाइपो में पहुँच जाता हैं और कूलिंग पाइप मे यह तेल ठण्डा हो जाता है और वापस अपने स्थान पर आ जाता हैं |

यह ऑयल टैंक में जाकर फिर से गर्म होता है और यह प्रक्रिया बार बार इसी प्रकार चलती रहती हैं इस प्रकार की विधि का प्रयोग अक्सर बड़े पैमाने के ट्रांसफॉर्मरों मे किया जाता हैं।

[ यह भी पढ़िए ]

4 तेल मे डुबा हुआ पानी से ठंडा होने वाला | Oil Immrsed Water Cooling

ट्रांसफॉर्मर को ठण्डा रखने की इस प्रकार विधि में एक ऑयल टैंक होता है और इस प्रकार के टैंक में ऑयल भरा जाता हैं और इस प्रकार के ऑयल से भरे टैंक मे ट्रांसफॉर्मर को रखा जाता हैं |

इस टैंक में रखे ट्रांसफॉर्मर में कॉपर धातु के पाइप लगाए जाते हैं जिनको घुमावदार आकृति मे लगाया जाता हैं और इन चक्कर दार पाइपो में ठण्डा पानी को भरा जाता हैं और यह पानी इन घुमावदार पाइपो मे प्रवाहित (बहता) रहता है |

जब भी ट्रांसफॉर्मर मे भरा हुआ तेल गर्म(उष्मा उत्पन्न करना) होता है तब पाइप में भरा हुआ पानी तेल कि गर्मी (उष्मा) को तुरंत अपने अंदर अवशोषित करने लगता हैं |

इस प्रकार की विधि का उपयोग वहा किया जाता हैं जहा पर विद्युत जनरेटिंग ( बिजली का उत्पादन ) की जाती हैं |

[ यह भी पढ़िए ]

5 तेल मे डूबा कर आयल ब्लास्ट विधि द्वारा ठंडा रखना | Oil Blast Cooling Method

इस प्रकार की विधि में ट्रांसफॉर्मर मे एक टैंक ट्रांसफॉर्मर का होता है जिसको ट्रांसफॉर्मर टैंक कहा जाता हैं और इस ट्रांसफॉर्मर टैंक के साथ एक और टैंक जोड़ा जाता हैं जिसका नाम रेडिएटर टैंक होता है |

यह रेडिएटर टैंक ट्रांसफॉर्मर टैंक के साथ जोड़ा जाता हैं इस रेडिएटर टैंक के अंदर एक पंप लगाया जाता हैं इस प्रकार के पंप का नाम एयर पंप होता है एयर पंप रेडिएटर टैंक में भरे ऑयल को हवा की सहायता से ठंडा रखता है और तेल को ठण्डा करने के बाद रेडिएटर टैंक की सहायता से इस तेल को वापस अपनी जगह यानी कि ट्रांसफॉर्मर में ट्रांसफॉर्मर टैंक में भेजा जाता है |

ये पुरी प्रक्रिया को पुरा करने मे सबसे ज्यादा सहायता कॉपर के पम्प करता हैं इस प्रकार की विधि का प्रयोग अधिक क्षमताओं वाले ट्रांसफॉर्मर में किया जाता हैं जैसे 500KVA के ट्रांसफॉर्मर में।

[ यह भी पढ़िए ]

6 हवा के द्वारा ब्लास्ट करके | Air Blast Method

इस प्रकार की विधि का प्रयोग एक एयर ब्लोअर के पंखे से किया जाता हैं एयर ब्लोअर के पंखे की सहायता से ठंडी हवा के द्वारा ट्रांसफॉर्मर को ठंडा रखते हैं |

ट्रांसफॉर्मर के ऊपर की तरफ और नीचे की तरफ एयर ब्लोअर की सहायता से हवा को ट्रांसफॉर्मर के अंदर तक पहुँचाया जाता हैं और ट्रांसफॉर्मर में उत्पन्न होने वाली गर्मी को या उत्पन्न होने वाली उष्मा को इयेर ब्लोअर की हवा सोख लेती है और हवा के बाहर जाने के रास्ते से बाहर की और निकल जाती है |

इस प्रकार की विधि का प्रयोग वहा किया जाता हैं जहाँ पर पानी की कमी पायी जाती है | कम पानी वाली जगह पर ट्रांसफॉर्मर में सब स्टेशननो मे यह विधि बहुत उपयोग की जाती हैं।

[ यह भी पढ़िए ]

Final Word – उम्मीद करते है यह आर्टिकल ट्रांसफार्मर को ठंडा करने की विधियाँ | Cooling Of Transformer आपको पसंद आया होगा | कृपया इस आर्टिकल को अपने साथियों के साथ भी जरुर शेयर करें और हमारे अगले आर्टिकल की अपडेट पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया पर जुड़े |

Leave a Comment

error: Content is protected !!