फ्लेमिंग के दायें हाथ का नियम | Fleming’s Right Hand Rules In Hindi

इलेक्ट्रिकल में हम कई नियम पढ़ते है | इन नियम में से एक है फ्लेमिंग के दायें हाथ का नियम ( Fleming Right hand Rule ) |यह नियम इलेक्ट्रिकल में काफी प्रचलित है इलेक्ट्रिकल से जुडी किसी भी प्रकार की पढाई करने वाले प्रत्येक स्टूडेंट्स को इसके बारे में जानकारी होना चाहिए | यदि आप भी जानना चाहते है की Fleming Right hand rules क्या है और इसका उपयोग कहाँ होता है तो यह आर्टिकल आपको पूरा पढ़ना चाहिए |

fleming right hand rules in hindi
fleming right hand rules

कौन सा टॉपिक पढेगे उस पर क्लिक करें -

Fleming Right Hand Rules क्या है

फ्लेमिंग के दायें हाथ का नियम – जब हम किसी भी चालक धातु के तार के एक टुकड़े को विद्युत चुम्बकीय क्षेत्र के बीच रख कर घुमाया जाये तो उसके अंदर एक विद्युत वाहक बल (EMF) पैदा होने लगेगा | फ्लेमिंग के दाएँ हाथ का नियम से किसी भी घूमने वाले DC जेनरेटर या मशीन की करंट की घूमने की दिशा को ज्ञात किया जा सकता है |

जब हम अपने दाएँ हाथ की पहली उँगली तथा अंगूठे को इस प्रकार फैलाएं की पहली ऊँगली , अंगूठे के साथ 90° का कोण बनाए और पहली उँगली , बीच वाली उँगली के साथ भी 90° का ही कोण बनाए |यानि कि दोनो उँगली और अंगूठा एक दूसरे के साथ 90° का कोण बनाये |

तब जो अंगूठे वाली दिशा होती है वह चुम्बकीय क्षेत्र में घूमने वाले चालक तार की दिशा को बताएगा। और जो पहली उँगली होती हैं वह विद्युत चुंबक मे उत्पन्न चुम्बकीय फ्लक्स की दिशा को बताएगी। और जो बीच वाली उँगली हमको विद्युत वाहक बल (EMF) के द्वारा पैदा होने वाले करंट की घूमने की दिशा को बताएगी।

[ यह भी पढ़ें ]

Fleming Right Hand Rules IMP Questions Answers

1. फ्लेमिंग के दाएँ हाथ के नियम के अनुसार अंगूठा किसकी दिशा को बताएगा?

उत्तर- चालक के घूमने की दिशा को बताएगा।

2. विद्युत वाहक बल की दिशा को किस नियम के द्वारा ज्ञात किया जाता है।?

उत्तर- फ्लेमिंग के दाएँ हाथ के नियम के द्वारा।

3. फ्लेमिंग के दाएँ हाथ के नियम के अनुसार पहली उँगली, बिच वाली उँगली और अंगूठा को किस एंगल के कोण पर रखा जाता है?

उत्तर- 90° के कोण के एंगल पर रखे जाते हैं।

4. जेनेरेटर की क्वायल के अंदर पैदा होने वाले विद्युत वाहक बल (EMF)की दिशा को किस तरह ज्ञात किया जाता है?

उत्तर- फ्लेमिग् के दाएँ हाथ के नियम के द्वारा।

5. फ्लेमिंग के दाएँ हाथ के नियमानुसार करेंट की दिशा को कोनसी उँगली प्रदर्शित करती हैं?

उत्तर- बीच वाली (मध्यमिका) उँगली।

6. फ्लेमिंग के दाएँ हाथ के नियम के अनुसार DC जेनेरेटर के अंदर घूमने वाले चुम्बकीय फ्लक्स की दिशा को बताने वाली कौन सी उँगली फ्लक्स को प्रदर्शित करेगी?

उत्तर- फ्लेमिंग के दाएँ हाथ (राईट हैंड रूल) की पहली उँगली चुम्बकीय फ्लक्स को बताएगी।

7. फ्लेमिंग के दाएँ हाथ के नियम को किस व्यक्ति ने बनाया?

उत्तर- फ्लेमिंग नाम के एक वैज्ञानिक यह एक नियम बनाया जिसका नाम उसने अपने नाम पर रखा है, इसको हम फ्लेमिंग के दाएँ हाथ का नियम कहते हैं।

8. फ्लेमिंग के दायें हाथ के नियम का उपयोग किसके लिए किया जाता हैं?

उत्तर- चुम्बकीय क्षेत्र में घूमने वाले चालक के अंदर उत्पन्न विद्युत वाहक बल की दिशा मालूम करने के लिए किया जाता हैं।

9. फ्लेमिंग के दाएँ हाथ का नियम क्या काम करता है?

उत्तर- चुम्बकीय क्षेत्र में उत्पन्न होने वाले प्रेरित विद्युत करेंट के घूमने वाली गति को ज्ञात करने का काम करता हैं।

10. फ्लेमिंग के दाएँ हाथ के नियम के अनुसार दाएँ हाथ की कितनी उँगलियों का उपयोग किया जाता है?

उत्तर- फ्लेमिंग के दाएँ हाथ के नियम के अनुसार दाएँ हाथ की दो उँगली और एक अंगूठे का उपयोग किया जाता है

[ यह भी पढ़ें ]

Final Word – तो इस आर्टिकल में हमने फ्लेमिंग के दायें हाथ का नियम | Fleming’s Right Hand Rules In Hindi कप पढ़ा | उम्मीद करते है यह आर्टिकल आपके लिए महत्वपूर्ण रहा होगा | कृपया इस आर्टिकल को अपने साथियों के साथ भी जरुर शेयर करें और हमारे अगले आर्टिकल की अपडेट के लिए हमसे सोशल मीडिया पर जुड़े |

Leave a Comment

error: Content is protected !!