एमसीबी क्या होता है |MCB in Hindi

एक विद्युत परिपथ में कई प्रकार की सुरक्षा युक्तियों का उपयोग किया जाता है | इन्ही युक्तियों में से एक है एमसीबी ( MCB ) | यदि आप भी जानना चाहते है की MCB मिनिएचर सर्किट ब्रेकर क्या होता है | इसका उपयोग क्या है तथा MCB कितने प्रकार की होती है तो यह आर्टिकल आपके लिए महत्वपूर्ण हो सकता है |

MCB in Hindi

एमसीबी क्या है | MCB in Hindi

MCB (मिनिएचर सर्किट ब्रेकर) -: वर्तमान के समय में हमारे घरों में हर काम करने के लिए और सभी उपयोग के लिए बिजली (विद्युत धारा) की अवशक्ता होती हैं | किसी भी उपकरण को चलाने के लिए बिजली का प्रयोग बहुत आवश्यक होता है और विद्युत का प्रयोग भी बहुत बढ़ गया है |

बिजली के बढते हुए इस्तेमाल के साथ ही हमें उसकी सुरक्षा करना भी बहुत जरूरी होता है । इसीलिए हमें मिनिएचर सर्किट ब्रेकर की तरह सुरक्षा के साधन की भी अवश्कता पड़ती है|

मिनिएचर सर्किट ब्रेकर (MCB) एक तरह का सर्किट को सुरक्षा प्रदान करने वाला साधन है| इसका प्रयोग हम फ्यूज की तरह कर सकते हैं | MCB को हम फ्यूज भी कह सकते है, अतः यह एक फ्यूज की तरह काम करता है |

MCB का पुरा नाम “मिनिएचर सर्किट ब्रेकर” है | मिनिएचर सर्किट ब्रेकर का प्रयोग इसलिए भी किया जाता है कि जब भी सर्किट में वोल्टेज अधिक होता या कोई अधिक भार पर चलने वाले उपकरण को सप्लाई के साथ जोड़ा जाता है उस समय सर्किट जल सकता हैं या उपकरण के अंदर किसी भी प्रकार की कोई परेशानी हो सकती है |

इस प्रकार की स्तिथि से बचने के लिए सर्किट के साथ फ्यूज की जगह MCB( मिनिएचर सर्किट ब्रेकर) को जोड़ा जाता हैं | जब परिपथ के सर्किट मे आपूर्ति से अधिक करेंट प्रवाहित होने लगती हैं, तब MCB( मिनिएचर सर्किट ब्रेकर) बिना किसी नुकसान के अपने आप बिना पिघले ही पूरे सर्किट को बंद कर देता है, इस प्रकार हमारे घर के किसी भी उपकरण को कोई भी नुकसान नही पहुँचता है, और सर्किट के बंद होने पर उपकरण पूरी तरह से जलने से बच जाते हैं |

इस प्रकार की मिनिएचर सर्किट ब्रेकर (MCB) को इस प्रकार से बनाया जाता हैं की यह पूरा एक स्वीच की तरह दिखाई देता है | MCB को हम इलेक्ट्रिकल स्वीच भी कह सकते हैं, यह एक प्रकार से सुरक्षा का काम करता है, MCB को हमेशा फेज के साथ सीरीज में ही जोड़कर रखा जाता हैं |

[ यह भी पढ़िए ]

MCB में कौन कौन से भाग होते है | MCB Parts in Hindi

एक MCB में निम्नलिखित भाग होते है –

  1. सप्लाई तर्मिनल
  2. इंकमिंग तर्मिनल
  3. आर्क चैंबर
  4. थर्मल रिले
  5. बाई- मेटलिक एलिमेंट
  6. कांटेक्ट टर्मिनल पॉइंट
  7. स्थिर टर्मिनल्स
  8. चालित तर्मिनल
  9. सोलेनायट
  10. फील्ड कोइल
  11. ऑपरेटिंग नॉब
  12. ट्रिप होने वाला लिवर
  13. मैग्नेटिक क्वायल
  14. सर्किट ब्रेकर की बॉडी
  15. ऑपरेटिंग स्वीज लिवर
  16. ऑटोमेटिक ऑन/ऑफ नॉब

[ यह भी पढ़िए ]

MCB की कार्य प्रणाली | MCB Working

MCB की आकृति को इस प्रकार का बनाया जाता है कि वह छोटे पैमाने पर और औद्योगिक तथा बड़े पैमाने पर भी प्रयोग में लाया जा सकता है |

इसके इस्तेमाल करने से सभी प्रकार के विद्युतीय उपकरणों की सुरक्षा की जाती हैं इसका इस्तेमाल करने के लिए मिनिएचर सर्किट ब्रेकर अधिक भार आपूर्ति के कारण अपने आप ही बंद होने की क्षमता वाला बनाया जाता है अधिक भार की स्तिथि में बंद होने की अवस्था के लिए इस प्रकार के सर्किट ब्रेकर में दो धातुओ वाली बाई मेटलिक पत्तियों का प्रयोग करके इस प्रकार की प्रक्रिया को पुरा किया जाता हैं किया जाता हैं।

अतः इस प्रकार का मिनिएचर सर्किट ब्रेकर को इस प्रकार बनाया जाता है की किसी भी तरह के अधिक भार को वहन करने की या शार्ट सर्किट की कंडीशन उत्पन्न होने की स्तिथि में पूरे सर्किट को अपने आप ही ऑफ कर देता है।

यह मिनिएचर सर्किट ब्रेकर किसी प्रकार की धारा वहन क्षमता में बनाये जाते हैं | जैसे 5A, से 60A तक और 230 वोल्टेज तक बनाये जाते हैं सिंगल फेज उपकरणों और थ्री फेज उपकरणों में प्रयोग में लाया जा सकता हैं।

[ यह भी पढ़िए ]

मिनिएचर सर्किट ब्रेकर(MCB) में ज्यादा लम्बे समय के लिए अधिक भार (Over load) करंट पर चलता है तब मिनिएचर सर्किट ब्रेकर (MCB) में लगी हुई दो अलग- अलग प्रकार की विभिन्न धातुओं से बनी हुई पट्टी जो ओवर लोड की स्तिथि के कारण बहुत ज्यादा गर्म होने लगती है और अधिक गर्म होने के कारण यह द्वि धात्विक पट्टी मुड़ने लगती हैं और जिस जगह पर इस पट्टी को लगाया जाता हैं उस जगह से गर्म होने के कारण उस जगह से अलग हो जाती है जिसके कारण परिपथ के साथ जुड़ा हुआ मैन लोड सर्किट मे से अलग हो जाता हैं और परिपथ में जलने से बच जाता है|

जब मिनिएचर सर्किट ब्रेकर में लगी हुई द्वि धात्विक पट्टी ठंडी हो जाती हैं तब यह पट्टी फिर से अपने आकार में आ जाती हैं और इसके साथ एक स्प्रींग लगा होता है वह इस पट्टी को वापस इसके स्थान पर जोड़(connect) कर देती है और हम फिर से सर्किट को परिपथ के लोड के साथ जोड़ कर स्टार्टस्टार्ट कर देते है और पुरा परिपथ फिर से चालू होकर काम करने लग जाता हैं |

सर्किट मे जुड़े हुए उपकरणों को शार्ट सर्किट से बचाने या खराब होने से बचाने के लिए मिनिएचर सर्किट ब्रेकर ( MCB) में एक क्वायल होती हैं जिसको को लोड के साथ सीरीज में जोड़ा जाता है। कम लोड होने की स्तिथि में इस क्वायल(Coil) के अंदर बहुत ही कम अर्थात ना के बराबर चुम्बकीय क्षेत्र उत्पन्न होता है।

लेकिन फिर भी मिनिएचर सर्किट ब्रेकर (MCB) के साथ जुड़े सर्किट में शार्ट सर्किट होता रहता है तब मिनिएचर सर्किट ब्रेकर (MCB) मे से बहुत ज्यादा करंट अचानक से प्रवाहित होने लगता है जिससे इस क्वायल ( COIL) के अंदर एक बहुत ज्यादा पावर फुल स्ट्रांग मैग्नेटिक फील्ड उत्पन्न होने लगता हैं तथा यह क्वायल एक चुम्बक की भाती कार्य करना शुरू करने लगता है।

इस प्रकार की चुम्बकीय क्वायल को जब लीवर से जोड़ा जाता हैं तब यह चुम्बकीय क्वायल सर्किट ब्रेकर के Plunger को अपनी तरफ आकर्षित करके मिनिएचर सर्किट ब्रेकर के लीवर को लोड से जुड़े हुए सर्किट के परिपथ को तोड़ देता हैं या से डिसकनेक्ट कर देता है। और इस प्रकार हमारे परिपथ की सुरक्षा की जाती है इसी लिए मिनिएचर सर्किट ब्रेकर का प्रयोग किया जाता हैं |

[ यह भी पढ़िए ]

MCB के प्रकार एवं उपयोग

अगर हम मिनिएचर सर्किट ब्रेकर (MCB) के बारे में जानते हैं तो यह हमारे उपकरणों की सुरक्षा करने के लिए प्रयोग में लाया जाता हैं और इसको कई भागो में बाट कर रखा गया है जैसे- सिंगल पोल, डबल पोल तीन पोल, और चार पोल

MCB इसके कई प्रकार है जो निम्न है-

  • B- प्रकार का
  • C- प्रकार का
  • D- प्रकार का
  • K- प्रकार का
  • Z- प्रकार का

B प्रकार का मिनिएचर सर्किट ब्रेकर (MCB)

इस प्रकार के मिनिएचर सर्किट ब्रेकर का उपयोग सबसे अधिक घरों के अंदर इस्तेमाल होने वाले सभी प्रकार के उपकरण की सुरक्षा के लिए किया जाता है। B प्रकार के मिनिएचर सर्किट ब्रेकर ( MCB) के अंदर से उसकी क्षमता से 3 या 5 गुना अधिक करेंट प्रवाहित होती हैं तब है,यह लगभग कुछ ही सेकंड के बीच में यह MCB ट्रिप ( बंद) हो जाएगी।और शॉर्ट सर्किट से घरेलु उपकरणों की सुरक्षा हो जायेगी |

C प्रकार का मिनिएचर सर्किट ब्रेकर (MCB )

इस प्रकार के सर्किट ब्रेकर का उपयोग घर के अंदर होता है और औद्योगिक कंपनियों मे भी इसका उपयोग अधिक किया जाता है | इसका उपयोग घरों और कंपनी दोनो जगह बहुत ज्यादा किया जाता है अधिक इस्तेमाल होने वाली इस प्रकार की एमसीबी को AC induction motor के लिए डिज़ाइन किया जाता है। लेकिन इसका उपयोग घर के अंदर उपयोग मे होने वाले उपकरणों में भी किया जा सकता है।

अगर C- प्रकार के मिनिएचर सर्किट ब्रेकर के अंदर से उसकी कार्य क्षमता से अधिक लगभग 10 गुना अधिक करेंट प्रवाहित होने लगेेगी तो कुछ समय में MCB तुरन्त बंद हो जायेगी और ट्रिप होकर उपकरणों की सुरक्षा करेगी |

D प्रकार का मिनिएचर सर्किट ब्रेकर ( MCB )

इस प्रकार के मिनिएचर सर्किट ब्रेकर का उपयोग वहा पर किया जाता है, जहा पर बहुत कम वोल्टेज पहुँच पाता है और करंट की मात्रा भी कम पहुँच पाती हैं बार बार कम और ज्यादा होती रहती है। उदाहरण के लिए हम वेल्डिंग मशीन को चला कर भी समझ सकते है। क्योंकि वेल्डिंग मशीन हमेशा थोड़ी थोड़ी देर में रुक रुक कर चलती रहती है। अतः रुक रुक कर चले वाले उपकरणों को चलाने के लिए D- प्रकार के मिनिएचर सर्किट ब्रेकर का उपयोग किया जाता है अधिक करेंट के प्रवाहित होने के कारण यह MCB भी तुरंत ट्रिप होकर सर्किट में जुड़े उपकरणों की सुरक्षा करती हैं |

इसका उपयोग हॉस्पिटल में X-ray मशीनों में और वेल्डिंग मशीन में किया जाता है D- प्रकार के सर्किट ब्रेकर का उपयोग घर के उपकरणों को चलाने के लिए कभी भी नही किया जाता है क्योकि यह घर में उपयोगी उपकरण की सुरक्षा के लिए उपयोगी नही होते है |

K प्रकार के मिनिएचर सर्किट ब्रेकर (MCB)

यह इस प्रकार की सुरक्षा युक्ति होती हैं जो बहुत ही कम समय में बहुत ही जल्दी उपकरणों की सुरक्षा के लिए बहुत जल्दी सर्किट को ब्रेक कर देती हैं अधिक गुना करेंट प्रवाह के कारण कम समय मे ट्रिप हो जाएगी | मतलब यह 1 मिली सेकंड से भी कम समय मे ट्रिप होकर हमे सुरक्षा देती है।

Z प्रकार का मिनिएचर सर्किट ब्रेकर ( MCB )

इस प्रकार के MCB को बहुत ही सेंसिटीव् MCB कहा जाता है यह सर्किट ब्रेकर कम से कम समय में बंद हो कर परिपथ की सुरक्षा करती हैं और इस प्रकार के सर्किट ब्रेकर में कुछ छोटे छोटे शॉर्ट सर्किट को सेह कर सर्किट में उपकरणों की सुरक्षा करती है Z प्रकार के MCB अपनी क्षमता के अनुसार ही कारेंट को प्रवाहित होने देते हैं और अधिक करेंट प्रवाह के कारण तुरंत बहुत ही कम समय में सर्किट को बंद (trip) कर देती है |

Z- प्रकार के मिनिएचर सर्किट ब्रेकर का उपयोग हमारे घर के उपकरणों के लिए नही किया जाता हैं और ना हि मोटर को चलाने के लिए किया जाता हैं। इस प्रकार के सर्किट ब्रेकर का उपयोग उस स्थान पर किया जाता है जहाँ पर बहुत ही ज्यादा उपकरणों में शॉर्ट सर्किट से उपकरण के खराब हो जाने की संभावना होती हैं |

[ यह भी पढ़िए ]

Final Word – तो इस आर्टिकल एमसीबी क्या होता है |MCB in Hindi में आपने MCB के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त की | उम्मीद करते है यह जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण रही होगी | कृपया इस जानकारी को अपने साथियों के साथ भी जरुर शेयर करें और हमारे अगले आर्टिकल की अपडेट पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया पर जुड़े |

Leave a Comment

error: Content is protected !!