Bridge Rectifier किसे कहते है | ब्रिज रेक्टिफायर कैसे बनाये

इस आर्टिकल में हम Bridge Rectifier यानि की सेतु दिष्टकारी के बारे में जानकारी प्राप्त करने वाले है | यहाँ हमको एक ब्रिज रेक्टिफायर के बारे में विस्तार से पढने को मिलेगा | यदि आप जानना चाहते है ब्रिज रेक्टिफायर किसे कहते है , Bridge Rectifier in Hindi , ब्रिज रेक्टिफायर का उपयोग कहाँ किया जाता है , ब्रिज रेक्टिफायर के लिए किन किन युक्तियों की आवश्यकता होती है , ब्रिज रेक्टिफायर का सर्किट डायग्राम तथा ब्रिज रेक्टिफायर की कार्यविधि जैसे सवालों के बारे में तो आप यह आर्टिकल पूरा पढ़ें यहाँ आपको सारे सवालों के जवाब मिल जायेंगे |

bridge rectifier
bridge rectifier

कौन सा टॉपिक पढेगे उस पर क्लिक करें -

Bridge Rectifier in Hindi

ब्रिज रेक्टिफायर किसे कहते है – “एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक सर्किट है जिसका उपयोग AC विद्युत धारा सप्लाई को DC विद्युत धारा सप्लाई में बदलने के लिए किया जाता है तथा  इस रेक्टिफायर से प्राप्त आउटपुट एक पूर्ण तरंग डीसी होती है |”

Bridge Rectifier कैसे बनाये

एक ब्रिज रेक्टिफायर के सर्किट डायग्राम को समझने से पहले हमे इस रेक्टिफायर में उपयोग आने वाली युक्तियों तथा उपकरण के बारे में जानकारी होनी चाहिए |  ब्रिज रेक्टिफायर बनाने के लिए हमें एक स्टेप डाउन ट्रांसफार्मर , चार PN संधि डायोड , की आवश्यकता होगी | जिनका चित्र एवं सिंबल को निचे बताया गया है |

bridge rectifier (1)
bridge rectifier (1)

निचे हम एक Bridge Rectifier Circuit Diagram बनाये है तथा इस डायग्राम को बनाने की विधि का भी वर्णन किये है आप Bridge Rectifier बनाने की विधि को पढ़कर भी आसानी से इस रेक्टिफायर को बना सकते है |

[ यह भी पढ़ें ]

bridge rectifier circuit diagram
bridge rectifier circuit diagram
 

Bridge Rectifier Working method

ब्रिज रेक्टिफायर बनाने की विधि – दी गयी विधि को फॉलो करें करे और ब्रिज रेक्टिफायर का निर्माण करें |

1 . सबसे पहले हमें Step Down Transformer की प्राइमरी तथा सेकेंडरी वाइंडिंग की पहचान करना है | यदि आपको पहचान करना नही आता है तो इससे पहले हम एक आर्टिकल लिखे हे उसे पढ़कर आप पहचान करना सिख सकते है |

2 . इसके पश्चात दो डायोड को आपस में श्रेणी क्रम में जोड़कर दो जोड़े बनाये | जैसा निचे चित्र में बताया गया है |

3. इसके पश्चात आप चित्रानुसार दोनो जोड़े को आपस में समान्तर क्रम में इस प्रकार संयोजित करे की पहले जोड़े का P बोले तो कला सिरा दुसरे जोड़े की P यानि की काले सिरे से जुड़े | ठीक इसी प्रकार दोनों जोड़े के N – N सिरे यानि की सिल्वर वाले भाग को आपस में जोड़े | जैसा की आप चित्र में देख सकते है |

4. इसके पश्चात दोनों जोड़े के सीरीज पॉइंट पर ट्रांसफार्मर की आउटपुट सप्लाई को कनेक्ट करे | तथा बचे हुए दोनों पॉइंट से डीसी आउटपुट प्राप्त करें |

नोट – यदि आप 220 वोल्ट सप्लाई के लिए रेक्टिफायर बनाना चाहते है तो आपको PN Juction diode 1N5408 का उपयोग करना चाहिए तथा इसके लिए आपको ट्रांसफार्मर की आवश्यकता भी नही होगी आप सीधे ही निचे बताये चित्र के अनुसार बना सकते है |

[ यह भी पढ़ें ]

Bridge Rectifier IMP Questions Answers

प्रश्न 1. ब्रीज रेक्टीफायर किसे कहते है?

उत्तर-: जो आकर में छोटे और जिसमे चार डायोड्स का प्रयोग किया जाता है।

प्रश्न 2. ब्रीज रेक्टीफायर में किस प्रकार के डायोड्स प्रयोग किये जाते हैं?

उत्तर-:डायोड सिलिकॉन के बने हुए होते हैं।

प्रश्न 3. ब्रीज रेक्टीफायर का प्रयोग कहा किया जाता हैं?

उत्तर-: ए सी. को डी. सी. में परिवर्तित करने के लिए प्रयोग किया जाता हैं।

प्रश्न 4. ब्रीज रेक्टीफायर का क्या लाभ होता है?

उत्तर-: ब्रीज रेक्टीफायर से दो गुना अधिक आउटपुट प्राप्त कर सकते हैं।

प्रश्न 5. डायोड्स में विद्युत धारा किस प्रकार बहती है?

उत्तर-: डायोड में विद्युत धारा केवल एक ही दिशा में बहती है।

प्रश्न 6. ब्रीज रेक्टीफायर में सेंटर टैप्ड ट्रांसफॉर्मर की आवश्यकता क्यों नही होती हैं?

उत्तर-: क्युकी ब्रीज रेक्टीफायर में डायोड का प्रयोग किया जाता हैं।

प्रश्न 7. फुल वेव रेक्टीफिकेशन कितने डायोड लगाए जाते हैं?

उत्तर-: चार डायोड का प्रयोग किया जाता हैं।

प्रश्न 8. ब्रीज रेक्टीफायर में वेव किस प्रकार की होती हैं?

उत्तर-: ब्रीज रेक्टीफायर में हाफ सायिकाल होती हैं।

प्रश्न 9. ब्रीज रेक्टीफायर में आउटपुट पल्सेन्टिंग कोनसी होती हैं?

उत्तर-: रेक्टीफायर में उपलब्ध आउटपुट पल्सेन्टिंग हमेशा डी. सी. प्रकार की होती हैं।

प्रश्न 10. RMS वोल्टेज और पिक वोल्टेज कितनी होती हैं?

उत्तर-: डी सी वोल्टेज, 0.9RMS वोल्टेज होती हैं और 0.637 पीक वोल्टेज होती हैं।

[ यह भी पढ़ें ]

Final Word – तो इस आर्टिकल में आपने पढ़ा Bridge Rectifier in Hindi यदि यह आर्टिकल आपको पसंद आता है तो कृपया अपने साथियों के साथ जरुर शेयर करे | और हमारे नये आर्टिकल की अपडेट जानने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करे |

Leave a Comment

error: Content is protected !!