लेड शिथ्ड वायरिंग क्या है | Lead Sheathed wiring

Lead Sheathed wiring – इलेक्ट्रिकल में घरेलु और उद्योगों के लिए तरह – तरह की वायरिंग की जाती है | यह वायरिंग जगह एवं आवश्यकता के अनुरूप होती है | इस आर्टिकल में हम लेड शिथ्ड वायरिंग ( Lead Sheathed wiring ) के बारे में पढ़ेंगे |

यदि आप भी जानना चाहते है की Lead Sheathed Wiring क्या है , कहाँ की जाती है तथा इस वायरिंग में किस प्रकार की तार एवं केबल का उपयोग किया जाता है , लीड शिथ्ड केबल क्या होती है और इस केबल में कौन कौन से भाग होते है, तो यह आर्टिकल आप पूरा पढ़ें |

lead sheathed wiring cables
lead sheathed wiring cables

कौन सा टॉपिक पढेगे उस पर क्लिक करें -

लेड शिथ्ड वायरिंग क्या है | Lead Sheathed Wiring

लेड शिथ्ड वायरिंग वह वायरिंग है जो देखने में बिल्कुल बेटन वायरिंग की तरह ही दिखाई देती है | लेड शिथ्ड की वायरिंग के अंदर पॉली विनाईट क्लोराइ (PVC) /CTS के तार का इस्तेमाल नही किया जाता है |

लेड शिथ्ड वायरिंग मे PVC(पॉली विनाईट क्लोराइ) की जगह पर लेड शिथ्ड के कवर वाले तारो के कंडक्टर का उपयोग किया जाता हैं और लेड शिथ्ड के तार के ऊपर पॉली विनाइट क्लोराइ (PVC) वाले रबर का कवर चढ़ा दिया जाता हैं।

लेड शिथ्ड वायरिंग लीकेज करेंट से आंतरिक सुरक्षा प्रदान करता है। अतः वायरिंग की सुरक्षा के लिए इस प्रकार की लेड शिथ्ड वायरिंग का प्रयोग किया जाता है | इस लेड शिथ्ड वायरिंग की निरंतरता बनाने के लिए वायरिंग को अर्थ से जोड़ कर रखा जाता हैं।

[ यह भी पढ़िए ]

लेड शिथ्ड केबल क्या है |Lead Sheathed Cable

इस प्रकार की केबल में तांबे के तार के ऊपर टिन का आवरण चढ़ा होता है और तांबे के इस टिन आलेपित तार के ऊपर ( VIR ) वेल्केनाईज्ड इंडियन रबर का अचालक आवरण चढ़ाया जाता हैं | फिर इस आवरण के ऊपर लेड (शीशा) नामक धातु का एक और आवरण चढ़ाया जाता है | यह लेड धातु का आवरण केबल को यांत्रिक मजबूती प्रदान करता है | इसके कारण केबल बाहरी चोटों से सुरक्षित रहती है | इस तरह से लेड शिथ्ड केबल को बनाया जाता हैं |

यह लेड शिथ्ड केबल दो कोर , तीन कोर या चार कोर वाली केबल होती हैं | लेड शिथ्ड केबल आग से पुरी तरह सुरक्षित है इसके ऊपर लेड का कवर होने के कारण इसके ऊपर बाहरी चोटों का कोई भी प्रभाव नहीं पड़ता है। लेड शिथ्ड केबल को वायुमंडल की नमी वाले स्थान पर या खुले जगह पर इस केबल को लगाया जा सकता हैं |

[ यह भी पढ़िए ]

लेड शिथ्ड केबल के भाग

  • 1. धातु तार का कोर
  • 2. अचालक पदार्थ का आवरण ( insulaition)
  • 3. मेटलिक शीट ( धातु का कवर) शिथ्ड
  • 4. बेडिंग
  • 5. आर्मरिंग कवर
  • 6. सुरक्षा आवरण (सर्विंग) शिथ्ड

1. धातु तार का कोर

धातु कोर को बनाने के लिए बिना आवरण वाले बहुत सारे पतले पतले तारों को इकट्ठा करके ऐठ कर बनाया जाता हैं जो कि गोलाकार आकृति में दिखाई देता है| यह कोर करेंट प्रवाह की क्षमता के आधार पर बनाया जाता है |

जिस स्थान पर अधिक करंट रेटिंग की जरूरत होती है वहाँ पर तार के कोर की मोटाई को भी अधिक रखना पड़ता है और जिस भी स्थान पर कम करेंट रेटिंग का उपयोग होता हैं वहां पर तार के कौर की मोटाई को भी कम करके ही रखना पड़ता है | यह एक कोर , दो कोर ,तीन कोर तथा चार कोर में बनाये जाते है। लेड शिथ्ड मे इस्तेमाल होने वाले तारो को वातावरण के प्रभावों से बचाने के लिए टिन से आलेपित कर दिया जाता हैं और इस प्रकार के तारो की चालकता उच्च क्षमता वाली होती हैं।

[ यह भी पढ़िए ]

2. अचालक पदार्थ का आवरण

इन्शुलेशन पदार्थ करंट को अपने अंदर से नही गुजरने देता है | केबल इंसुलेशन अचालक पदार्थ का आवरण तारो की कोर के ऊपर सुरक्षा आवरण के रूप में चढ़ाया जाता हैं | यह अचालक पदार्थ का आवरण इसलिए चढ़ाया जाता हैं कि तार की कोर आपस में एक दूसरे के सम्पर्क में ना आ सके और तार की कोर के बीच में किसी भी प्रकार का कोई शोर्ट सर्किट ना हो पाए |

अचालक पदार्थ का उपयोग वोल्टेज के आधार पर किया जाता हैं जिस भी जगह पर अधिक आपूर्ति वोल्टेज होती हैं वहा पर अधिक मोटाई वाला इन्शुलेशन पदार्थ का उपयोग किया जाता हैं और जहाँ पर कम वोल्टेज आपूर्ति होती हैं वहा पर कम मोटाई वाला इन्शुलेशन उपयोग मे लाया जाता हैं |

लेड शिथ्ड का आवरण उच्च क्षमता वाला होना चाहिए जो वातावरण की नमी और गर्मी दोनो सहन क पाएँ। लेड शिथ्ड केबल के तारो में अचालक पदार्थ के आवरण के लिए रबर का उपयोग किया जाता हैं जो बहुत नर्म रूप में होता है नर्म रबर में सल्फर की कुछ मात्रा मिलाकर और कुछ मात्रा खनिज पदार्थ की मिलाई जाती है और रबर को कठोर तथा वेल्केनाईज्ड कर दिया जाता हैं इसको वोल्टेज आपूर्ति कम एवं अधिक वोल्टेज के लिए तारो पर आवरण चढ़ा दिया जाता है |

3. मेटलिक शीट ( धातु का कवर) शिथ्ड

यह धातु का बना हुआ एक प्रकार का कवर होता है जिसका काम धातु के तारो के ऊपर जो आवरण चढ़ाया जाता है उसकी सुरक्षा करना होता है | यह धातु की शीट मेटल लेड धातु की बनी हुई होती है या फिर एल्युमिनियाम धातु की बनी हुई होती हैं |

जब धातु की तारो की कोर के अंदर से विद्युत धारा को प्रवाहित किया जाता हैं तब इसमे एक विद्युत चुम्बकीय फील्ड उत्पन्न होने लगता है इस प्रकार के चुम्बकीय क्षेत्र को खत्म करने के लिए धातु की सुरक्षा आवरण को इंसुलेशन के ऊपर चढ़ाया जाता हैं |

[ यह भी पढ़िए ]

4. बेडिंग

बेडिंग भी एक प्रकार का सुरक्षा आवरण होता है यह सुरक्षा आवरण जमीन के नीचे उपस्थित होने वाली नमी के कारण मेटल की शीट से बने हुए सुरक्षा आवरण के ऊपर जंग लगने से बेडिंग मेटालिक शीट की सुरक्षा करता हैं | यह बेडिंग जुट या फायबर के पदार्थ से बनाया जाता हैं जो धातु से बने हुए मेंटल की शीट को यांत्रिक सुरक्षा भी प्रदान करता है | बेडिंग जुट या फ़ाईबर के बने हुए पतले पतले धागे से बनी हुई जाली होती है जो धातु से बने हुए मेंटल के आवरण की सुरक्षा करने का काम करता हैं

5. आर्मरिंग कवर

आर्मरिंग कवर का उपयोग बेडिंग के आवरण ऊपर चढाने के लिए किया जाता है | आर्मरिंग आवरण को गेल्वनाईज्ड इंडियन रबर नामक धातु से बनाया जाता हैं | यह आवरण बहुत ही सख़्त होता है इस प्रकार के आवरण के द्वारा लेड शिथ्ड केबल को किसी भी प्रकार नुकीले धातु की चोट आघात या किसी भी तिकोने ओजर से कटने से सुरक्षित बचाया जा सकता हैं | यह स्टील की धातु से भी बनाया जाता हैं और इस प्रकार से आर्मरिंग कवर बेडिंग आवरण की सुरक्षा करने के लिए प्रयोग किया जाता हैं।

[ यह भी पढ़िए ]

6. सुरक्षा आवरण (सर्विंग) शिथ्ड

सर्विंग सुरक्षा आवरण आर्मरिंग सुरक्षा आवरण के ऊपर चढ़ाया जाने वाला एक और सुरक्षा आवरण होता तो जो कि जब आर्मरिंग सुरक्षा आवरण गेल्वनाईज्ड इंडियन रबर , स्टील या G.I. का बनाया जाता हैं तो इस प्रकार के पदार्थ के ऊपर जंग लगने का खतरा बना रहता है और इस आर्मरिंग कवर की सुरक्षा के लिए सर्विंग सुरक्षा आवरण को अर्मरिंग कवर के ऊपर आवरण के रूप में चढ़ाया जाता हैं |

जब लेड शिथ्ड केबल को जब जमीन के अंदर डाला जाता है तब इसमे यांत्रिक पावर अधिक हो जाता है और केवल की इलेक्ट्रिक स्ट्रैंथ भी बड़ जाती हैं इस प्रकार हम लेड शिथ्ड केबल के उपर जितने भी प्रकार सुरक्षा आवरण का उपयोग करते है उससे हमारे लेड शिथ्ड केबल यांत्रिक पावर और इलेक्ट्रिक पावर अधिक आपूर्ति प्रदान करता हैं और लेड शिथ्ड केबल की गुणवत्ता भी अधिक बड़ जाती हैं और लम्बे समय तक इस्तेमाल किया जा सकता है।

[ यह भी पढ़िए ]

Lead Sheathed wiring FAQ

प्रश्न 1. लेड शिथ्ड वायरिंग क्या है?

उत्तर-: लेड शिथ्ड केबल प्राय दो या तीन कोर वाला लेड कवर्ड केबल होता है।

प्रश्न 2. लेड शिथ्ड वायरिंग किस प्रकार स्थापित किया जाता हैं?

उत्तर-: बेटन वायरिंग की तरह ही स्थापित किया जाता हैं।

प्रश्न 3. लेड शिथ्ड कवरिंग केबल का क्या कार्य होता है?

उत्तर-: लेड शिथ्ड कवरिंग केबल अर्थिंग लाईन का कार्य करती हैं।

प्रश्न 4. लेड शिथ्ड कवरिंग की निरंतरता बनाये रखने के लिए क्या किया जाता हैं?

उत्तर-: लेड शिथ्ड कवरिंग की निरंतरता बनाने के लिए अर्थिंग से जोड़ दिया जाता हैं।

प्रश्न 5. लेड शिथ्ड वायरिंग के क्या गुण है?

उत्तर-: लेड शिथ्ड वायरिंग बहरी खरोचो एवं चोटो से केबल सुरक्षा करती हैं।

प्रश्न 6. आग से सुरक्षा के लिए किस प्रकार की वायरिंग की जाती हैं?

उत्तर-: लेड शिथ्ड वायरिंग का उपयोग किया जाता हैं।

प्रश्न 7. नमी वाले स्थान पर कैसी वायरिंग की जाती हैं?

उत्तर-: लेड शिथ्ड वायरिंग करनी चाहिए।

प्रश्न 8. सबसे महँगी वायरिंग कोनसी होती हैं?

उत्तर-: लेड शिथ्ड वायरिंग केसिंग कैपिंग और बेटन वायरिंग से भी ज्यादा महंगी होती है।

प्रश्न 9. लेड शिथ्ड वायरिंग का उपयोग कितने वोल्टेज तक किया जाता हैं?

उत्तर-: लेड शिथ्ड वायरिंग का 250volt की वोल्टेज के लिए उपयोग किया जाता हैं

प्रश्न 10. लेड शिथ्ड वायरिंग का उपयोग कहा पर नही किया जाता हैं?

उत्तर-: अम्ल ,क्षार उत्पन्न करने वाली उद्योगशालाओ मे उपयोग नही किया जाता हैं।

Final Word – तो इस आर्टिकल में हमने जाना Lead Sheathed Wiring क्या है , कहाँ की जाती है तथा इस वायरिंग में किस प्रकार की तार एवं केबल का उपयोग किया जाता है , लीड शिथ्ड केबल क्या होती है और इस केबल में कौन कौन से भाग होते है | उम्मीद करते है यह आर्टिकल आपके लिए हेल्पफुल रहा होगा | कृपया इस आर्टिकल को अपने साथियों के साथ भी जरुर शेयर करें और हमारे नये आर्टिकल की अपडेट पाने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें |

Leave a Comment

error: Content is protected !!